ट्रेलर व बस की भिड़ंत, मां-पुत्र की मौत

Vikas Choudhary

Updated: 17 Nov 2019, 12:35:41 AM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
नागौर रोड पर खेड़ापा थाने से एक किमी आगे शनिवार रात रोडवेज बस व ट्रेलर की भिड़ंत में बस में सवार मां-पुत्र की मौत और चौदह जने घायल हो गए। भिड़ंत के बाद अनियंत्रित बस सडक़ से उतर गई। यात्रियों में हाकाकार मच गया। मृतक और अधिकांश घायल एक ही परिवार से हैं। वे रिश्तेदार के निधन पर जोधपुर में शोक व्यक्त कर नागौर लौट रहे थे।

पुलिस के अनुसार जोधपुर से नागौर की तरफ जा रही नागौर डिपो की बस की खेड़ापा से एक किमी आगे निकलते ही ट्रेलर से भिड़ंत हो गई। ट्रेलर चालक ने बस से बचने की कोशिश की। जिससे ट्रेलर का केबिन तो बच गया, लेकिन ट्रॉली का कोना बस से भिड़ गया। इससे बस के आगे के हिस्से के परखच्चे उड़ गए।
चालक ने नियंत्रण खो दिया और बस सडक़ से उतरकर झाडि़यों में जाकर रुकी। बस के केबिन में बैठे नागौर के लोहारपुरा निवासी नफीसा बानो (३२) पुत्नी शाहिद व उसके पुत्र अज्जू (२) की मौके पर ही मृत्यु हो गई। हादसे के बाद घटनास्थल पर जाम लग गया। पुलिस मौके पर पहुंची और क्रेन बुलाकर क्षतिग्रस्त वाहन हटाकर यातायात सुचारू कराया।

हादसे में बस चालक भी गंभीर घायल हो गया, लेकिन वह अस्पताल नहीं पहुंचा। पुलिस को अंदेशा है कि उसे किसी अन्य वाहन से निजी अस्पताल ले जाया गया होगा।
घायलों की सूची

खींवसर में महेशपुरा निवासी जितेन्द्र पुत्र श्यामलाल गौड़, नागौर के लोहारपुरा निवासी मोहम्मद रमजान पुत्र अब्दुल रहमान, अब्दुल शकूर पुत्र हाजी रमजान, जाहिदा बानो पत्नी गुलाम, सादिक पुत्र गुलाब साबिर, अलवीरानूर (६.५), शबीम बानो पत्नी खलिल, बानो बेगम पत्नी अब्दुल करीम, रूखसाना पत्नी लाल मोहम्मद, अब्दुल गफ्फार व जिया पुत्री मोहम्मद खलिल, अलाय निवासी प्रेमा, जायल थानान्तर्गत परमेश्वर और बिरलोका गांव निवासी प्रभुराम घायल हो गए। एक घायल का एक पांव घुटने के पास से कटकर अलग हो गया। बावड़ी, खेड़ापा, धनारी, मथानिया, पावटा व मण्डोर की एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और घायलों को बावड़ी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया, जहां से उन्हें मथुरादास माथुर अस्पताल रैफर कर दिया गया। जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित व अन्य अधिकारी अस्पताल पहुंचे व घायलों की जानकारी लेकर उपचार व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए।
शोक व्यक्त करने के बाद लौट रहे थे नागौर

नागौर निवासी अब्दुल समद का कहना है कि गत गुरुवार को उसकी बहन की जोधपुर में मृत्यु हो गई थी। इसलिए सभी रिश्तेदार शोक व्यक्त करने के लिए शनिवार को बहन के घर गए थे।
चालक का ध्यान नहीं था

यात्रियों का कहना है कि चालक काफी लापरवाही से बस चला रहा था। कुछ देर पहले यात्रियों ने उसे टोका था। खेड़ापा से निकलते ही चालक एक हाथ से केबिन में ऊपर के हिस्से में रखा कुछ सामान निकालने लग गया था। स्टेयरिंग एक हाथ से संभाले हुए था। उसका ध्यान सामान निकालने की तरफ गया। इतने में सामने से आए ट्रेलर से भिड़ंत हो गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned