scriptTripple Murder बेटियों के अंतिम दर्शन तक नहीं कर सकी मां, एक साथ अंतिम संस्कार | Triple Murder: Mother could not even see her daughters for the last time, last rites performed together | Patrika News
जोधपुर

Tripple Murder बेटियों के अंतिम दर्शन तक नहीं कर सकी मां, एक साथ अंतिम संस्कार

– दस-पन्द्रह मिनट बातचीत करने के बाद लघुशंका के बहाने बाहर जाकर कुल्हाड़ी लाकर की थी तीनों की हत्या

जोधपुरJul 06, 2024 / 07:09 am

Vikas Choudhary

tripple murder jodhpur

हत्या की ​शिकार दोनों बहनें अपनी मां के साथ। मां अस्पताल में भर्ती है।

जोधपुर.

बनाड़थानान्तर्गतनांदड़ा खुर्द गांव में तिहरे हत्याकाण्ड में तीसरे दिन शुक्रवार को नानी व दोनों दोहितियों के शवों का अंतिम संस्कार किया गया। नांदड़ा खुर्द गांव में नानी व जाजीवाल जाखड़ान गांव में दोनों मासूम बहनों का एक साथ गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार किया गया। मथुरादास माथुर अस्पताल के आइसीयू में भर्ती मां अपनी बेटियों का अंतिम बार चेहरा तक नहीं देख पाई। उधर, हत्या के आरोपी को रिमाण्ड पर भेजा गया है।
जानकारी के अनुसार नांदड़ा खुर्द निवासी भंवरीदेवी (65) पत्नी मांगीलाल जाट और जाजीवाल जाखड़ान निवासी दोहितियां भावना (5) पुत्री किशनाराम और लक्षिता (3) की तीन जुलाई को हत्या कर दी गई थी। मासूम बहनों की मां संतोष सिर में कुल्हाड़ी घुसने से गंभीर घायल है। वह आइसीयू में भर्ती है।
पुलिस ने गुरवार रात तीनों शवों के पोस्टमार्टम करवाए थे। परिजन को शुक्रवार सुबह तीनों शव सुपुर्द किए गए। मृतका भंवरीदेवी का शव नांदड़ा खुर्द और मासूम बहनों के शव जाजीवाल जाखड़ान ले जाया गया। शव पहुंचते ही परिजन व ग्रामीणों में रूदन शुरू हो गया। गमगीन माहौल में अंतिम यात्रा निकाली गई। गांव के श्मशान स्थल में उनका अंतिम संस्कार किया गया।
दूसरी तरफ, जाजीवाल जाखड़ान गांव में भावना व उसकी बहन लक्षिता शव गांव पहुंचते ही खामोश माहौल में रूलाई फूटी। परिजन विलाप करने लगे। फिर एक साथ दोनों की शव यात्रा रवाना हुई। गांव में एक साथ दोनों का अंतिम संस्कार किया गया।

पांच दिन रिमाण्ड पर आरोपी

बनाड़ थानाधिकारी प्रेमदान ने बताया कि प्रकरण में नांदड़ा खुर्द गांव निवासी दिनेश पुत्र सूजाराम जाट को गिरफ्तार किया गया। उसे कोर्ट में पेश करने पर पांच दिन रिमाण्ड पर भेज दिया गया। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में उसके अकेले के हत्या करने का पता लगा है। साजिश में किसी अन्य के होने की जांच की जा रही है।

लघुशंका के बहाने बाहर गया और कुल्हाड़ी लेकर आया

आरोपी दिनेश ऑनलाइन जुआ खेलने का आदी है। वह जुए में रुपए हार गया था। उसे और रुपए की जरूरत थी। इसलिए वह 3 जुलाई की दोपहर एक बजे पुखराज जाट के मकान गया था। उसने पुखराज की पत्नी गोमादेवी व उसकी भाभी को अस्पताल जाते देख लिया था। उसे मकान में पुखराज की मां के अकेली होने का अंदेशा था। वह उसके घर पहुंचा तो भंवरीदेवी कमरे में बैठी मिली। करीब 10-15 मिनट तक दोनों ने बातचीत की थी। फिर दिनेश लघुशंका के बहाने बाहर गया था, जहां उसे दो-तीन कुल्हाड़ीपड़ी दिखी। उसने एक कुल्हाड़ी उठाई और पीठ पीछे छुपाकर मकान में घुसा, जहां मौजूद भंवरीदेवी पर दो-तीन वार किए। जिससे उसकी मौत हो गई थी। पास में मौजूद मासूम बहनें चिल्लाने लगी तो आरोपी ने डांट डपटकर चुप करवा दिया था। फिर उसने दोनों को टांके में डूबो दिया था। रुपए व जेवर लूटने के लिए वह पीछे वाले कमरे में गया, जहां एक कमरे में संतोष दिखाई दी, जो सो रही थी। उसने कुल्हाड़ी सिर में मार दी। जो फंस गई। फिर उसने दो अटैची व बक्से के ताले तोड़े, लेकिन उनमें रुपए व जेवर नहीं मिले, तब वह भाग गया था।

खून के छींटे लगा कमीज बदलकर पहुंचा मौके पर

हत्या के दौरान दिनेश के कमीज पर खून के छींटे लग गए थे। वह अपने घर गया और कमीज बदल दिया। फिर वह दूसरे रास्ते से घूमकर गांव में आया और वारदातस्थल पहुंचा। चूंकि गांव वालों ने उसे दोपहर एक बजे वारदातस्थल पर जाते देख लिया था। उन्होंने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने गुरुवार सुबह दिनेश को पकड़ लिया। पूछताछ में उसने वारदात स्वीकार कर ली।

Hindi News/ Jodhpur / Tripple Murder बेटियों के अंतिम दर्शन तक नहीं कर सकी मां, एक साथ अंतिम संस्कार

ट्रेंडिंग वीडियो