scriptTwo years LLM in JNVU in three years | जेएनवीयू में दो साल की एलएलएम तीन साल में, 2018 बैच को साढ़े तीन साल बाद मिली है डिग्री | Patrika News

जेएनवीयू में दो साल की एलएलएम तीन साल में, 2018 बैच को साढ़े तीन साल बाद मिली है डिग्री

- कागजों में एलएलएम 2021 बैच शुरू, एडमिशन होंगे 2022 में

जोधपुर

Published: December 27, 2021 04:38:26 pm

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में मास्टर ऑफ लॉ यानी एलएलएम (लीगम मजिस्टर) एक से डेढ़ साल पीछे चल रही है। दो साल की डिग्री विश्वविद्यालय तीन से साढ़े तीन साल में दे रहा है। एलएलएम शैक्षणिक सत्र 2021-22 शुरू हो चुका है लेकिन सिर्फ कागजों में। सत्र के छह महीने बीत चुके हैं, जबकि छात्रों ने अभी तक प्रवेश भी नहीं लिया है। एलएलएम की प्रवेश परीक्षा 6 जनवरी को होगी। इसके बाद फरवरी में छात्र प्रवेश लेंगे यानी सत्र शुरू होने के आठ महीने बाद विद्यार्थी कक्षा में आएगा।
जेएनवीयू में दो साल की एलएलएम तीन साल में, 2018 बैच को साढ़े तीन साल बाद मिली है डिग्री
जेएनवीयू में दो साल की एलएलएम तीन साल में, 2018 बैच को साढ़े तीन साल बाद मिली है डिग्री
जेएनवीयू ने वर्ष 2017 में एलएलएम में चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम यानी सीबीसीएस शुरू किया था, तब से लेकर अब तक एलएलएम के केवल दो बैच 2017 और 2018 ही पास आउट हुए हैं। सीबीसीएस सिस्टम के कारण पूरा एलएलएम पटरी से उतर गया है।
120 सीटों के लिए 132 आवेदन, फिर भी प्रवेश प्रक्रिया
विवि में एलएलएम अनियमित होने से विद्यार्थियों का मोह भंग हो गया है। प्रवेश परीक्षा की संभावित तिथि 6 जनवरी है। गत सप्ताह तक एलएलएम की 120 सीटों के लिए केवल 132 ही आवेदन आए थे। ऐसे में प्रवेश परीक्षा भी औपचारिकता बनकर रह जाएगी।
2019 बैच के 2 साल में 2 सेमेस्टर
वर्ष 2019-20 विद्यार्थियों के दो साल में दो सेमेस्टर हुए हैं। प्रथम सेमेस्टर का परिणाम जुलाई 2021 में आया। विवि ने तेजी से दूसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं करवाकर नवम्बर 2021 में परिणाम जारी कर दिया। अब तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च 2022 में और चौथे की नवम्बर-दिसम्बर में होने की संभावना है। जब तक डिग्री हाथ में आएगी, साढ़े तीन से चार साल हो जाएंगे।
2020-21 बैच को डेढ़ साल, एक सेमेस्टर भी पूरा नहीं
वर्ष 2020-21 में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों का शैक्षणिक सत्र का डेढ़ साल गुजर गया है लेकिन अभी तक प्रथम सेमेस्टर भी पूरा नहीं हुआ है। इसी बीच जनवरी में 2021-22 बैच आ जाएगा यानी एक समय में प्रथम सेमेस्टर में 2020-21 और 2021-22 दो बैच एक साथ होंगे।

‘कुछ बैच की परीक्षाएं कोविड के कारण लेट हो गई। एलएलबी अंतिम वर्ष की परीक्षाएं हाल ही में संपन्न हुई है इसलिए सत्र एलएलएम 2021-22 की प्रवेश प्रक्रिया जनवरी तक खींच गई। अगर पहले प्रवेश परीक्षा ली जाती तो बच्चे भी नहीं मिलते।’
प्रो चंदनबाला, अधिष्ठाता, विधि संकाय, जेएनवीयू जोधपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

वैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंगUAE के अबूधाबी एयरपोर्ट पर तेल टैंकरों में विस्फोट, ड्रोन अटैक की आशंका'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाचुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पत्रकारों सहित इन लोगों को मिलेगी पाँच राज्यों के चुनावों में पोस्टल बैलेट की सुविधाUP Election 2022: मुठ्ठी में अनाज भर अखिलेश यादव ने लिया अन्न संकल्प, जानिए किस बात की ली शपथशिवसेना ने 'सामना' के जरिए BJP पर साधा निशाना, कहा- दलित के घर भोजन करना महज दिखावाUttar Pradesh Assembly Election 2022 : तो क्या बेटी की लव मैरिज की वजह से कट गया विधायक का टिकट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.