scriptVacant posts: Three thousand posts of teachers are vacant in 372 colle | Vacant posts: प्रदेश के इन कॉलेजों में विद्यार्थियों को खुद पढ़नी पड़ रही केमेस्ट्री व हिस्ट्री, यह है वजह | Patrika News

Vacant posts: प्रदेश के इन कॉलेजों में विद्यार्थियों को खुद पढ़नी पड़ रही केमेस्ट्री व हिस्ट्री, यह है वजह

Vacant posts: प्रदेश के 372 कॉलेजों में शिक्षकों के करीब तीन हजार पद खाली
अगले महीने से खुलेंगे 32 नए कॉलेज
कहीं हिस्ट्री पढ़ाने वाला नहीं तो कहीं खुद पढऩी पड़ रही केमेस्ट्री

जोधपुर

Published: June 25, 2022 02:42:21 pm

Vacant posts: जोधपुर. प्रदेश में उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार लगातार कॉलेज पर कॉलेज खोले जा रही है, लेकिन कई जगह पढ़ाने वाला कोई नहीं है। प्रदेश के 372 कॉलेजों में शिक्षकों के 40 प्रतिशत पद रिक्त हैं। कहीं हिस्ट्री पढ़ाने वाला नहीं है तो कहीं केमेस्ट्री खुद पढऩी पड़ रही है। ताज्जुब की बात यह है कि अगले महीने से 32 नए कॉलेज और खुलेंगे, जहां पड़ोसी शिक्षकों से ही कक्षाएं संचालित की जाएगी। प्रदेश के कॉलेजों में शिक्षकों के 6 हजार 972 पद हैं। इसमें से 4 हजार 190 शिक्षक कार्यरत हैं। फिलहाल 2 हजार 782 शिक्षकों की कमी है। इस सत्र से नए कॉलेज शुरू होने से दो सौ शिक्षकों की डिमाण्ड और बढ़ जाएगी। कक्षाओं में शिक्षक नहीं होने विद्यार्थियों को स्वयंपाठी की तरह स्वयं ही पढ़ने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। विज्ञान जैसे प्रेक्टिकल विषय होने पर छात्र छात्राओं की हालत और खस्ता हो जाती है।
Vacant posts: प्रदेश के इन कॉलेजों में विद्यार्थियों को खुद पढ़नी पड़ रही केमेस्ट्री व हिस्ट्री, यह है वजह
Vacant posts: प्रदेश के इन कॉलेजों में विद्यार्थियों को खुद पढ़नी पड़ रही केमेस्ट्री व हिस्ट्री, यह है वजह

तीन साल में खुले 150 कॉलेज
बीते तीन साल में प्रदेश में अब तक सर्वाधिक कॉलेज खोले गए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस कार्यकाल में 150 से अधिक कॉलेज खुल गए हैं। इसी अनुपात में शिक्षकों की भर्ती नहीं हुई है। जोधपुर शहर की बात करें तो वर्ष 2019 में राजकीय महाविद्यालय मगरा पूंजला, वर्ष 2020 में राजकीय महाविद्यालय कुड़ी भगतासनी और वर्ष 2021 में राजकीय कन्या महाविद्यालय सूरसागर खोला गया। इस साल शहर में तो कोई कॉलेज शुरू नहीं हो रहा है लेकिन ग्रामीण इलाके में दो नए कॉलेज खुल रहे हैं। जुलाई में भोपालगढ़ में राजकीय कन्या महाविद्यालय और सेखाला में राजकीय महाविद्यालय शुरू किया जाएगा।

गत वर्ष उधारी के शिक्षकों से पढ़ाई
शिक्षकों की भारी कमी के चलते बीते साल राज्य सरकार ने विद्या सम्बल योजना शुरू की और शिक्षकों को कालांश पर भर्ती किया गया। इस दौरान प्रदेश भर में 600 से अधिक शिक्षकों ने कक्षाएं ली। मार्च में यह योजना खत्म हो गई। इस साल भी विद्या सम्बल से पढ़ाई कराने की उम्मीद है।

- 372 कॉलेज हैं प्रदेश में
- 6972 शिक्षकों के पद है कॉलेजों में
- 2782 शिक्षकों के पद रिक्त
- 32 अतिरिक्त नए कॉलेज इस सत्र से होंगे शुरू

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्नIndependence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी14 अगस्त को 'विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस' मनाने पर कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- नफरत फैलाने के लिए त्रासदी का दुरुपयोग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.