बेटे को उतारने से पहले दो माह तक सीएम गहलोत ली थी टोह, इन विस क्षेत्र के लोगों से लिया था फीडबैक

गहलोत ने इसके साथ ही जालोर-सिरोही सीट पर भी दो दिन तक प्रवास किया और अलग-अलग क्षेत्र में लोगों से मिले।

By: Harshwardhan bhati

Published: 29 Mar 2019, 12:15 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

File Video/ अविनाश केवलिया/जोधपुर. बेटे की लॉन्चिंग से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर लोकसभा सीट की अच्छे से टोह ली। जोधपुर शहर की तीनों विधानसभा सीट के कार्यकर्ताओं से मिले। इसके अलावा लूणी, लोहावट, फलोदी व पोकरण विधानसभा क्षेत्र में घूम कर कार्यकर्ताओं व लोगों का फीडबैक लिया। गहलोत ने इसके साथ ही जालोर-सिरोही सीट पर भी दो दिन तक प्रवास किया और अलग-अलग क्षेत्र में लोगों से मिले।

होली स्नेह मिलने में दे दिए थे संकेत
होली से पहले जोधपुर व जालोर सीट पर फीडबैक लेने के बाद मुख्यमंत्री गहलोत यह समझ चुके थे कि वैभव को कहां से उतारा जाना है। इसीलिए होली स्नेह मिलन में आने के लिए उन्होंने स्वीकृति दी। खुद वैभव दो-तीन दिन तक जोधपुर में रुके और कई सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल हुए। ऐसे में संकेत स्पष्ट थे कि वैभव जोधपुर से ही मैदान में उतरने वाले हैं।

‘रियल हॉट’ सीट

भाजपा ने रिपीट कार्ड खेला और जोधपुर से गजेन्द्रसिंह शेखावत को मैदान में उतारा। केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री के मैदान में होने के कारण इसे हॉट सीट माना जा रहा था। लेकिन अब सामने वैभव गहलोत के आने के बाद यह रियल हॉट सीट बन गई है। देश की सियासी निगाहें यहां रहेंगी। भाजपा की ओर से जो प्रत्याशाी है वह आरएसएस के चहेते और पीएम नरेन्द्र मोदी की गुडबुक में है। जबकि सामने सीएम के बेटे की टक्कर है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned