video धींगा गवर की धूम, लड़कों के पड़ी बेंत, तीजणियों ने मचाई धमाल

MI Zahir | Publish: Apr, 03 2018 10:52:04 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर के परकोटे में मंगलवार और बुधवार की दरम्यानी रात महिलाओं के विश्वप्रसिद्ध धींगा गवर मेले की धूम रही।

धींगा गवर लाइव

जोधपुर . उई मां...आह .. उरे .. अरे बाप रे । छड़ी और बेंत की मार पर युवकों केमुंह से ऐसी ही आवाजें निकल रही थीं। उन्हें पता था कि आज उनके बेंत पड़ेगी, लेकिन बेंत खाना शगुन मानने के कारण वे भी बेंत खाने के लिए यहां पहुंचे थे। जोधपुर के परकोटे में मंगलवार और बुधवार की दरम्यानी रात महिलाओं के विश्वप्रसिद्ध धींगा गवर मेले की धूम रही। इस दौरान तीजणियों ने नेह के संग युवकों के बेंत मारी। ऐसी मान्यता है कि जिस कुंआरे पुरुष के बेंत लगती है उसकी जल्दी शादी हो जाती है।

चुहल के संग कुंआरे युवकों पर बेंत की मार
परकोटे में दिन की तरह जगमगाती रात, मंद मंद बती ठंडी बयार, माहौल में मधुर रस घोलती गीत- संगीत की झँकार,हर तरफ तीजणियों की कतार और हंसी ठिठोली और चुहल के संग कुंआरे युवकों पर बेंत की मार। यह दुनिया भर में मशहूर जोधपुर की महिलाओं के रात को लगेधींगा गवर मेले का खूबसूरत और मनोहारी नजारा था। कहीं परंपरागत गीत गाए जा रहे थे तो कहीं डीजे पर फिल्मी गीतों और पैरोडी के साथ डान्य की धूम थी। इस दौरान मेला देखने आने वालों की भी रौनक रही।

महिलाओं का एक छत्र राज रहा

जोधपुर परकोटे में महिलाओं का विश्व प्रसिद्ध आकर्षक और अनूठा धींगा गवर मेला मंगलवार रात को धूमधाम से मनाया जा रहा है। जगमगाती रात दिन जैसा समां नजर आया। अब सोलह दिवसीय धींगा गवर पूजन उत्सव के अनुष्ठान पूरे हो गए और महिलाओं के रात्रि मेले धींगा गवर की भोळावणी पर तीजणियों की धमाल मची। तीजणियोंं ने रात को झिलमिल रोशनी और संगीत की दिलकश लहरियों और डान्स की धूम के साथ जगह-जगह विशेष मंच पर गवर गीत गा कर भावनाओं का इजहार कर धूम मचाई। इस तरह महिला सशक्तीकरण के प्रतीक धींगा गवर मेले की रात भीतरी शहर में महिलाओं का एक छत्र राज रहा।

समूह के रूप में घरों से निकलीं
इससे पहले धींगा गवर माता पूजन के सोलह दिवसीय पूजन अनुष्ठान पूरे होने पर खूबसूरत और आकर्षक अनूठे स्वांग रची तीजणियांं शहर में जगह-जगह विराजित गवर माता के दर्शन कर लिए समूह के रूप में घरों से निकलीं। मेले के दौरान शहर की विभिन्न गणगौर कमेटियों की ओर से तीजणियों का 20 से अधिक जगहो पर स्वागत-सत्कार किया गया। उन्होंंने गवर माता के दर्शन में बाधक बनने वाले सभी पुरुषों पर बेंतों से प्रहार किया । लोक मान्यता है कि कुंआरे युवक को गवर पूजने वाली तीजणियों की बेंत पड़ जाए, तो उसकी सगाई हो जाती है।

चारों तरफ बैरिकेडिंग लगी थीं
पुलिस ने धींगा गवर मेले के दौरान ऐसी व्यवस्था की थी कि किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस के पुख्ता बंदोबस्त रहे। मेला परिसर वाले क्षेत्र को चारों तरफ से बैरिकेडिंग व बैरियर लगा कर कवर किया गया था। पुलिस ने यह बात पहले ही कह दी थी कि महिलाओं व युवतियों के अतिरिक्त किसी भी युवक को मेला परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मेले के दौरान महिला अधिकारी व महिला सिपाही प्रमुख रूप से तैनात रहे। इस दौरान समाजकंटकों के खिलाफ सख्ती बरती गई।

मेले के दौरान वैकल्पिक मार्ग

जोधपुर परकोटे में महिलाओं के मशहूर धींगा गवर-बेंतमार गणगौर मेले के दौरान मंगलवार रात आठ बजे से यातायात की खास व्यवस्था रही। यह इंतजाम बुधवार तड़के चार बजे तक के लिए किया गया। इस दौरान पुलिस स्टेशन सदर बाजार, सदर कोतवाली व खाण्डा फलसा के अंतर्गत आने वाले भीतरी शहर में ट्रैफिक बंद रहा। वहीं वैकल्पिक मार्गों से वाहनों की आवाजाही रही।

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned