जोधपुर में चोर मचा रहे शोर, एक साल में हुइ दस करोड़ रुपए तक की चोरी, आंकड़ों की जुबानी..

Vikas Choudhary

Publish: Sep, 16 2017 04:09:40 (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India
जोधपुर में चोर मचा रहे शोर, एक साल में हुइ दस करोड़ रुपए तक की चोरी, आंकड़ों की जुबानी..

कमिश्नर साहब कब रुकेंगे अपराध- पुलिस की रात्रि गश्त पर उठ रहे सवाल,शहर में न मंदिर सुरक्षित और न ही मुख्य रोड पर शोरूम

 

 पत्रिका पड़ताल

जोधपुर.शहर में भले ही रात बारह बजते ही पुलिस की गश्त शुरू हो जाती है और हर प्रमुख मार्गों व पॉइंट पर पुलिस व होमगार्ड के जवान तैनात हो जाते हैं। यह दावा भी है कि रात बारह से तड़के पांच बजे तक पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी रहती हो। इन सब तामझाम के बावजूद गत वर्ष अकेले पुलिस कमिश्नरेट क्षेत्र में चोर दस करोड़ रुपए का सामान चुरा कर ले गए। चालू वर्ष में यह आंकड़ा और अधिक हो सकता है। शहर में न तो मंदिर सुरक्षित हैं और न ही मुख्य रोड स्थित शोरूम। पुलिस की जांच का आलम यह है कि वह एक चौथाई मामलों के चालान भी कोर्ट में पेश नहीं कर पा रही है। एेसे में न सिर्फ वाहन चोर, बल्कि नकबजन गैंग सक्रिय होकर आमजन की नींद उड़ाए हुए है।

 


बाहरी गैंग के साथ स्थानीय बदमाश सक्रिय

पुलिस का कहना है कि गत दिनों जिस तरीके से तीन शोरूम से लाखों रुपए का सामान चोरी हुआ है, उससे चोरों की गैंग बिहार या नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र की हो सकती है। एक मामले में बिहार के पांच युवक पकड़े भी जा चुके हैं। वहीं, मंदिर व अन्य जगहों पर वारदातों में स्थानीय युवकों के शामिल होने का अंदेशा है।

 


गश्त के बजाय भारी वाहनों पर ध्यान

चोरी व नकबजनी रोकने के लिए अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त व उप अधीक्षक स्तर के अधिकारियों के साथ ही थानाधिकारियों को रात्रि गश्त में लगाया जाता है। इसके अलावा पुलिस की चेतक यानी फ्लाइंग भी गश्त करती है, लेकिन बाहरी क्षेत्रों की अधिकतर चेतक गलियों में गश्त करने के बजाय मुख्य रोड पर ट्रक या भारी वाहनों के आगे-पीछे ही भागती हुई नजर आती है। संदिग्ध व्यक्तियों को रोक कर टोका तक नहीं जाता है।

 

 

केस- १
चोर पकड़ में आए, बरामदगी नहीं

दो अगस्त : मेडिकल कॉलेज के सामने मुख्य रोड पर स्पेस इलेक्ट्रॉनिक्स नामक शोरूम से लाखों रुपए के कीमती मोबाइल चोरी हो गए थे। शास्त्रीनगर थाना पुलिस ने बिहार में नेपाल सीमा पर रहने वाले पांच जनों को गिरफ्तार तो कर लिया, लेकिन मोबाइल बरामद नहीं कर पाई है।

 


केस - २

उजाला होने तक बेखौफ घूमती रही गैंग
३१ अगस्त : सरदारपुरा सी रोड स्थित गेट कनेक्टेड नामक मोबाइल शॉप और थाने के दूसरी तरफ स्थित राडो घडि़यों के शोरूम में सेंध लगा कर चोरों ने साठ मोबाइल और ५० लाख रुपए की ८६ घडि़यां चुरा ली थीं। चोरी करने के लिए सात युवक तड़के ४.५५ बजे ऑटो से चोरी करने के लिए आए थे। चोर उजाला होने तक चोरी को अंजाम देते रहे और फिर पैदल ही निकल गए थे।

 

केस -३
१ सितम्बर : चौपासनी रोड पर चीरघर स्थित जूना खेड़ापति मंदिर में रोशनदान से अंदर घुसे चोर ने चार दान पात्र तोड़ कर हजारों रुपए चुरा लिए थे। मंदिर में पहले भी कई बार चोरियां हो चुकी हैं, लेकिन प्रतापनगर थाना पुलिस एक भी मामले में चोर पकड़ नहीं पाई है।

 

केस - ४
११ सितम्बर : आस्था के प्रमुख स्थल शनिश्चरजी के मंदिर में छाता लगा कर घुसे युवक ने दान पात्र से हजारों रुपए चुरा लिए थे। इससे पहले भी मंदिर में दो बार चोरी हो चुकी है, लेकिन खाण्डा फलसा थाना पुलिस एक बार भी चोर पकड़ नहीं पाई है।

 

तीन साल के आंकड़ों की जुबानी

नकबजनी

वर्ष दर्ज एफआर चालान चोरी के सामान की कीमत बरामद सामान की कीमत
२०१४ २९७ १९३ ९१ ३२६८४४३१ १४९४१३११

२०१५ ३८५ २७७ ९६ ४०९२२०२९ १७४५४३४०
२०१६ २७६ २०० ६५ २३८१४२४७ ७५७८६५०


चोरी

वर्ष दर्ज एफआर चालान चोरी के सामान की कीमत बरामद सामान की कीमत
२०१४ ९९३ ७४२ २१३ ८२९८४९१६ ३५६६५४८२

२०१५ ११०२ ८९३ १८२ १००१३८५०५ ५३३९३५७४
२०१६ ९९१ ८०२ १७५ ७५२३७५२६ ४२२९९५५७

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned