रामदेवरा मेला 2017: कलक्टर के निर्देश के बावजूद मेले के पहले दिन ही बिजली गुल, परेशान हुए जातरू

मसूरिया मेले का आगाज, जातरुओं का ज्वार चरम पर

By: Nandkishor Sharma

Published: 22 Aug 2017, 04:24 PM IST

लोक देवता बाबा रामदेव का अवतरण दिवस २३ अगस्त को धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए देश के विभिन्न हिस्सों से पहुंचे जातरुओं से पूरा शहर जातरूमय नजर आया। जैसलमेर जिले में स्थित लोक देवता बाबा रामदेव के समाधि मंदिर में प्राकट्योत्सव मनाने के लिए रंगबिरंगी ध्वजा के साथ जयघोष करते जातरुओं के समूह का देर रात तक मसूरिया मंदिर पहुंचने का क्रम जारी रहा। पिछले एक पखवाड़े के दौरान करीब चार लाख से अधिक श्रद्धालु मसूरिया स्थित बालीनाथ मंदिर में शीश नवाने के लिए पहुंचे। शहर के सभी प्रवेश मार्गों से जैसलमेर रामदेवरा रोड तक जगह-जगह संचालित नि:शुल्क भोजन शिविर में जातरुओं की मान-मनुहार करते हुए नजर आए।

 

जयकारों से गूंज उठा मसूरिया मंदिर


बाबा रामदेव और गुरु बालीनाथ के जयकारों के बीच पन्द्रह दिवसीय मसूरिया मेले का विधिवत शुभारंभ किया। बिजोलाई आश्रम के महंत सोमेश्वरगिरि ने मंदिर गर्भगृह में फीता काट और दीप प्रज्वलित कर मेले की विधिवत शुरुआत की।

 

मसूरिया बाबा रामदेव मंदिर का संचालन करने वाले पीपा क्षत्रिय समस्त न्याति ट्रस्ट के सचिव संजय दईया ने बताया कि सोमवार को दिन भर प्रदेश के कोने-कोने से जातरुओं के पहुंचने का क्रम जारी रहा। जातरुओं की बढ़ती संख्या के मद्देनजर मंदिर में २४ घंटे दर्शन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। यह सुविधा बाबा के जन्मोत्सव बीज तक रहेगी। मेला उद्घाटन समारोह में मंदिर ट्रस्ट के शिव दैया, कमलेश नरेन्द्र गोयल और रवि गोयल आदि पदाधिकारी मौजूद थे। मेला शुरू होते ही बिजली गुल मसूरिया बाबा मंदिर मेले में सोमवार शाम को अचानक बिजली उपकरण जलने से बिजली गुल हो गई। बिजली गुल होने के कारण एकबारगी अफरा-तफरी मच गई। करीब ५० मिनट तक मशक्कत के बाद डिस्कॉमकर्मियों ने उपकरण बदल कर बिजली की आपूर्ति शुरू की। मेले के उद्घाटन के कुछ देर बाद शाम करीब सात बजे पोल पर बिजली उपकरण उड़ गया। इससे मसूरिया बाबा मंदिर और आसपास के क्षेत्र में बिजली आपूर्ति ठप हो गई। मौके पर बड़ी संख्या में मौजूद जातरुओं को खासी परेशानी हुई। सूचना पर एईएन व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद उपकरण बदल कर बिजली आपूर्ति शुरू करवाई गई। मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि मसूरिया मेले व आसपास के क्षेत्र में सुबह से ही में बिजली की आंख मिचौनी का क्रम जारी रहा। डिस्कॉम ने मेले से पूर्व इस क्षेत्र मेंरखरखाव के प्रति लापरवाही बरतने के कारण बिजली गुल होने की समस्या हो रही है। कलक्टर के जिला प्रशासन की बैठक के दौरान मेले के दौरान बिजली गुल नहीं होने के स्पष्ट निर्देश के बावजूद ७.३० से सुबह ११ बजे तक और शाम को ५० मिनट तक बिजली गुल रही।

Show More
Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned