जांच कमेटी को घोटाले के दस्तावेज ही नहीं सौंप रहा जोधपुर का विवि...!

Gajendrasingh Dahiya

Publish: Nov, 15 2017 04:37:00 (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

जांच कमेटी को टल्ला दे रहा जेएनवीयू, आखिर आना पड़ रहा जोधपुर

 

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में वर्ष 2012-13 में हुए शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच के लिए राज्य सरकार की ओर से गठित पांच सदस्यीय प्रो. पीके दशोरा कमेटी दो दिनों के दौरे पर गुरुवार को जोधपुर आ रही है। हर मोड़ पर कन्नी काट रहे विवि से दस्तावेज लेने के लिए कमेटी को जोधपुर में पड़ाव डालना पड़ रहा है। कमेटी दो दिनों तक यहां रहेगी। आम जनता भी घोटाले के संबंध में कमेटी के समक्ष अपनी राय रख सकती है। पिछले नौ माह में कमेटी को विवि ने घोटाले से संबंधित बहुत कम दस्तावेज उपलब्ध करवाए हैं।

 

जेएनवीयू में वर्ष 2012-13 में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के 154 पदों पर हुई भर्ती में घोटाले की जांच के लिए राज्य सरकार ने गत 1 फरवरी को कमेटी का गठन किया था। कोटा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीके दशोरा के समन्वय में पांच सदस्यीय कमेटी 16 नवम्बर को जोधपुर आएगी और दो दिन जेएनवीयू के अतिथि गृह में रहेगी।

 

उधर, जांच कमेटी सचिव डॉ. धीरेंद्र देवर्षि ने उच्च शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर जेएनवीयू से शिक्षक भर्ती घोटाले से सम्बंधित सभी सूचनाएं व दस्तावेज उपलब्ध करवाने के लिए विवि को निर्देश देने को कहा है। घोटाले की जानकारी रखने वाले व्यक्ति, चयन समिति के सदस्य, भर्ती में आवेदन करने और साक्षात्कार देने वाले अभ्यर्थी, विवि के शिक्षक, विद्यार्थी, अन्य शिक्षाविद, समाजसेवी, आम जनता व अन्य लोग भर्ती घोटाले से सम्बंधित दस्तावेज जांच कमेटी को सौंप सकते हैं।

 

विवि के अतिथि बनने पर सवाल


जांच कमेटी विवि के अतिथि गृह में ठहरेगी। ऐसे में विवि के ही विरुद्ध कमेटी से मिलने में विवि और बाहरी लोगों को संकोच हो सकता है। कई लोगों ने कमेटी से सर्किट हाउस में रुकने की मांग की है।

इससे पहले भी कमेटी ने घोटाले के संबंध में आमराय जानने के लिए समाचार पत्रों में प्रकाशित विज्ञापन में जेएनवीयू का पता दिया था। इस वजह से बहुत कम लोग सूचनाएं कमेटी को डाक से भेज सके।

 

जल्द पूरी हो जांच

 

हम चाहते हैं कमेटी अपनी जांच जल्द से जल्द पूरा करके रिपोर्ट सौंपे। साथ ही घोटाले के संबंध में सूचना रखने वाले सभी लोग कमेटी को दस्तावेज उपलब्ध करवाकर जांच में सहयोग करें। -ओमप्रकाश भाटी, अध्यक्ष, जेएनवीयू शिक्षक भर्ती संघर्ष समिति

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned