गांव-ढाणियों के सरकारी स्कूलों में तो देखे थे एेसे नजारे पर अब जोधपुर की सबसे बढ़ी विवि के है ये हाल,जाने क्या होगा रामा रे!

Gajendrasingh Dahiya

Publish: Oct, 13 2017 05:25:22 (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India
गांव-ढाणियों के सरकारी स्कूलों में तो देखे थे एेसे नजारे पर अब जोधपुर की सबसे बढ़ी विवि के है ये हाल,जाने क्या होगा रामा रे!

पुराना परिसर में मनोविज्ञान विभाग प्रयोगशाला को छात्रसंघ कार्यालय बनाया...

पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ाई करते बच्चों के नजारे गांव-ढाणियों के सरकारी स्कूलों में तो देखे होंगे, लेकिन शिक्षा के सर्वोच्च संस्थान में एेसा नजारा हो तो क्या कहिएगा। जी हां, प्रदेश के बड़े शिक्षा संस्थानों में शुमार जयनारायण विश्वविद्यालय में प्रोफेसर पेड़ की छांव में बीए मनोविज्ञान के छात्रों को पढ़ाते हैं। प्रदेश के दूसरे बड़े शहर के इस विश्वविद्यालय में ये हाल खुद विवि प्रशासन की अनदेखी का नतीजा है। इतना ही नहीं, अति तो तब हो गई, जब छात्रों ने इन हालात का विरोध। इस विवि प्रशासन ने छात्रों के विरोध के बाद निकट ही बने गैराज में कक्षा संचालित करने के निर्देश दे डाले।दरअसल, विश्वविद्यालय के पुराना परिसर में स्थित सायंकालीन अध्ययन संस्थान में संचालित मनोविज्ञान विभाग की प्रयोगशाला विवि प्रशासन ने छात्रसंघ कार्यालय के लिए आवंटित कर दी है। विवि प्रशासन के दबाव में विभागाध्यक्ष प्रो. एलएन बुनकर ने प्रयोगशाला की चाबी अधिकारियों को सौंप दी। अब बीए मनोविज्ञान के छात्रों के लिए पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ाई करने के अलावा कोई चारा नहीं बचा। विवि का मनोविज्ञान विभाग नया परिसर में है, जहां स्नातकोत्तर कक्षाएं चलती हैं। स्नातक स्तर पर मनोविज्ञान विषय लेने वाले छात्रों के लिए कक्षा पुराना परिसर स्थित सायंकालीन अध्ययन संस्थान में लगती है। वहां स्नातक के छात्रों के लिए मनोविज्ञान प्रयोगशाला बनी हुई है। इसी सप्ताह विवि के कुलपति प्रो. आरपी सिंह ने प्रयोगशाला छात्रसंघ कार्यालय के लिए आवंटित कर दी। विवि कर्मचारियों ने वहां ताला लगा दिया। उसके बाद पिछले दिन अर्पिता कक्कड़ सहित अन्य शिक्षक बीए प्रथम वर्ष की कक्षा पेड़ के नीचे लगा रहे हैं। छात्र वहां पढ़ाई कर रहे हैं, लेकिन प्रायोगिक कार्य बंद है।

 

प्रयोगशाला उपकरण व फर्नीचर गायब
मनोविज्ञान प्रयोगशाला से उपकरण और सामान गायब है। यहां तक कि ५० कुर्सियां और टेबले भी गायब कर दी गई हैं। सूत्रों के मुताबिक प्रयोगशाला का अधिकांश सामान केएन कॉलेज के पास संचालित विवि के ही टेप्से एण्ड हेप्सन में शिफ्ट कर दिया गया है, लेकिन लिखित सूचना नहीं है।

 

अब गैराज आवंटित

विवि प्रशासन ने दो-तीन दिन से छात्रों के बढऩे दबाव के बाद बीए मनोविज्ञान विभाग के लिए परिसर में ही गैराज को कक्षा के रूप में काम लेने के निर्देश दिए हैं। साथ ही पुरानी प्रयोगशाला के एक कमरे को सुबह ८ से दोपहर २ बजे तक काम में लेने की छूट दी है। फिलहाल कक्षा पेड़ के नीचे लग रही है।

 

 

 

झूठ बोलकर प्रयोगशाला छीन ली
विवि प्रशासन ने यह कहकर प्रयोगशाला को छात्रसंघ को आवंटित कर दिया कि यहां कक्षा नहीं लगती है। विविकर्मियों ने कुलपति के आदेश का हवाला देकर चाबी ले ली।

प्रो. एलएन बुनकर, एचओडी, मनोविज्ञान विभाग, जेएनवीय

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned