scriptWeather Forecast on Akhatij - Weather forecast will be from 'Dhani' on | Weather Forecast on Akhatij - आखातीज पर 'धणी' से होगी मौसम की भविष्यवाणी, इस अनूठी परम्परा के बारे में जानने के लिए पढ़े खबर | Patrika News

Weather Forecast on Akhatij - आखातीज पर 'धणी' से होगी मौसम की भविष्यवाणी, इस अनूठी परम्परा के बारे में जानने के लिए पढ़े खबर

Weather Forecast on Akhatij - अक्षय तृतीया आज, सावों की रहेगी धूम
- मौसम की भविष्यवाणी जानने से जुड़ी अनूठी परम्परा ' धणी '
- दो साल बाद होगा आयोजन

जोधपुर

Published: May 02, 2022 08:27:49 pm

Weather forecast on Akhatij - वैशाख शुक्ल तृतीया मंगलवार को अक्षय तृतीया के रूप में मनाई जाएगी। अबूझ सावे के रूप में मान्य इस दिवस पर जिले भर में वैवाहिक आयोजनों की धूम रहेगी। मान्यता है कि इस दिन किया हुआ जप - तप एवं दान अक्षय फलदायक होता है। इस बार अक्षय तृतीया के दिन मंगलवार को शोभन, मातंग और लक्ष्मी योग तथा रोहिणी नक्षत्र का संयोग होना भी विशेष फलदायी माना जा रहा है। ग्रहों का ऐसा शुभ संयोग करीब 50 साल बाद बन रहा है। इसके अलावा शुभ योग में अक्षय तृतीया करीब 30 साल बाद मनाई जाएगी। ग्रंथों के मुताबिक इसी दिन सतयुग और त्रेतायुग की शुरुआत हुई थी। इस दिन किया गया जप, तप, ज्ञान, स्नान, दान, होम आदि अक्षय रहते हैं। इसी कारण इसे अक्षय तृतीया कहा जाता है। शहर के वैष्णव मंदिरों धार्मिक अनुष्ठान , प्राण प्रतिष्ठा के आयोजन किए जाएंगे । घर - घर खीच , गळवाणी , साबूत फली , मिर्ची- काचरी साथ ही दुगड़ी रोटी बनाई जाएगी। जिले के किसान खेतों में ' हलोतिया ' धन - धान्य की कामना करेंगे। अक्षय तृतीया के दिन खरीदारी करना बेहद शुभ होता है। इसे अबूझ मुहूर्त भी कहा है। इस दिन भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। इसलिए इसे परशुराम तीज भी कहते हैं।
Weather Forecast on Akhatij - आखातीज पर 'धणी' से होगी मौसम की भविष्यवाणी, इस अनूठी परम्परा के बारे में जानने के लिए पढ़े खबर
Weather Forecast on Akhatij - आखातीज पर 'धणी' से होगी मौसम की भविष्यवाणी, इस अनूठी परम्परा के बारे में जानने के लिए पढ़े खबर
आखातीज पर ' धणी '
अक्षय तृतीया के उपलक्ष में मंगलवार दोपहर दो बजे बाईजी का तालाब स्थित घांचियों की बगेची में मौसम की भविष्यवाणी जानने से जुड़ी अनूठी परम्परा ' धणी ' कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सोजतिया बास घांची समाज विकास समिति के सचिव राजेश बोराणा ने बताया कि दशकों से चले आ रहे पारम्परिक आयोजन को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। कोविड के कारण पिछले दो साल से कार्यक्रम स्थगित रहा था। इस बार समाज के लोगों में आयोजन को लेकर उत्साह है।
स्नान और दान का महत्व
इसी दिन बद्रीनाथ धाम के पट खुलते हैं। अक्षय तृतीया पर तिल सहित कुश के जल से पितरों को जलदान करने से उनकी अनंत काल तक तृप्ति होती है। इस तिथि से ही गौरी व्रत की शुरुआत होती है। जिसे करने से अखंड सौभाग्य और समृद्धि मिलती है। अक्षय तृतीया पर गंगास्नान का भी बड़ा महत्व है। तीर्थ स्नान न कर सकें तो घर पर ही पानी में गंगाजल की कुछ बूंदें डालकर नहा सकते हैं। ऐसा करने से भी तीर्थ स्नान का पुण्य मिलता है। इसके बाद अन्न और जलदान का संकल्प लेकर जरुरतमंद को दान दें। ऐसा करने से कई यज्ञ और कठिन तपस्या करने जितना पुण्य फल मिलता है।
शुभ मुहूर्त
अक्षय तृतीया तिथि 3 मई को सुबह 5:19 मिनट से शुरू होकर 4 मई की सुबह 7:33 मिनट तक रहेगी। पं. अनीष व्यास ने बताया कि इस दिन रोहिणी नक्षत्र सुबह 12:34 मिनट से 4 मई की सुबह 3:18 मिनट तक रहेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'अजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.