video स्कूल में जाति के आधार पर भेदभाव पर क्या कहते हैं ये ?

MI Zahir

Publish: Jan, 28 2019 05:09:06 PM (IST) | Updated: Jan, 28 2019 05:09:07 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

धुंधाड़ा/जोधपुर. गणतंत्र दिवस पर एक तरफ धर्म, संप्रदाय व जातिगत भेदभाव मिटा कर लोकतंत्र को मजबूत करने की बातें की गई, वहीं दूसरी तरफ जोधपुर जिले के एक गांव की स्कूल में जाति के नाम पर भेदभाव का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। पंचायत समिति लूणी की ग्राम पंचायत मोड़ी जोशीयां के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बानियावास में 26 जनवरी को आयोजित हुए गणतंत्र दिवस समारोह में स्वर्ण और दलित ग्रामीणों के लिए अलग-अलग जाजम बिछाई गईं। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद दलित समाज में रोष व्याप्त हो गया है।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्कूल में गणतंत्र दिवस के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा था। उस समय स्कूल में कार्यक्रम देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे। यहां ग्रामीणों के बैठने की व्यवस्था जातिगत आधार पर नजर आई। सवर्ण जाति के लोगों को अलग व्यवस्था कर के बैठाया गया। वहीं दलित जाति के लिए अलग प्रकार की दरी बिछाई गई। इसी दौरान किसी ने वीडियो बना कर वायरल कर दिया। उसके बाद दलित समाज ने प्रशासन से स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। ग्रामीणों ने कहा कि राष्ट्रीय पर्व पर इस तरह की भेदभाव पूर्ण व्यवस्था करना दलितों के साथ अन्याय है।

हमने तो एक ही जाजम बिछाई
विद्यालय प्रशासन की ओर से सभी के लिए एक ही जाजम बिछाई गई थी। जाजम को किसने अलग-अलग किया, इसकी मुझे जानकारी नहीं है।

- शोभा बिश्नोई, प्रधानाध्यापिका

भेदभाव करना गलत
मैं 26 जनवरी को इस विद्यालय में नहीं थी। फि र भी अगर इस तरह का भेदभाव किया गया है, तो वह गलत है।

-सरोज कंवर, सरपंच मोड़ी जोशियां

दलितों के साथ अन्याय

26 जनवरी को विद्यालय में अलग-अलग जाजम बिछाई गई, जो दलितों के साथ अन्याय है।
- सोहनलाल मेघवाल, ग्रामीण

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned