scriptWhen CM Ashok Gehlot's eyes got teary-eyed | CM Ashok Gehlot की जब डबडबा गई आंखें | Patrika News

CM Ashok Gehlot की जब डबडबा गई आंखें

CM Ashok Gehlot का हमेशा मुस्कराता चेहरा ही दिखाई देता है, लेकिन आज वे अपने दो पुराने दोस्तों के परिजनों से मिलकर संवेदना जताने पहुंचे तो उनकी आंखें डबडबा गई। पहले उन्होंने कांग्रेस के पुराने नेता काशीराम विश्नोई के तिलवासनी गांव पहुंच कर अपने पुराने मित्र को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद वे पीपाड़ सिटी पहुंचे और अपने एक और दोस्त सत्यनारायण शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया। दोनों ही स्थानों पर उनकी आंखें नम नजर आईं।

जोधपुर

Published: April 19, 2022 05:49:03 pm

जोधपुर। CM Ashok Gehlot ने अपने गृह जिले के तिलवासनी गांव व पीपाड़ शहर कस्बे में पहुंच कर अपने दो पुराने मित्रों के निधन पर शोक प्रकट किया। इस दौरान गहलोत दोनों मित्रों के साथ बिताए पलों को याद करते हुए भावुक हो गए और उनकी आंखें नम नजर आई। युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व जिला परिषद के पूर्व सदस्य काशीराम विश्नोई व पीपाड़ के पूर्व पार्षद व पूर्व सरपंच सत्यनारायण शर्मा का गत दिनों निधन हो गया था।
CM Ashok Gehlot की जब डबडबा गई आंखें
CM Ashok Gehlot की जब डबडबा गई आंखें
गहलोत हेलिकॉप्टर से सबसे पहले बिलाड़ा तहसील के तिलवासनी गांव पहुंचे और स्व. काशीराम विश्नोई के घर जाकर उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित किए। इस दौरान गहलोत की आंखें नम हो गई और वे काफी देर तक तस्वीर के सामने खड़े रहे। फिर उन्होंने खुद को सम्भाला और विश्नोई के परिजनों से मिलकर काशीराम के साथ बिताए दिनों को याद कर एक बार फिर भावुक हो गए। उन्होंने काशीराम के गत दिनों निधन पर ट्वीट करके कहा था कि काशीराम उनके अजीज मित्र थे।
गहलोत शोकाकुल परिजनों से भी मिले और उन्हें ढाढस बंधाया। इस दौरान पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़, राजस्थान पशुधन विकास बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र सोलंकी, राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल, जोधपुर नगर निगम (उत्तर) की महापौर कुंती देवड़ा परिहार तथा विधायक महेन्द्र विश्नोई, किशनाराम व हीरालाल मेघवाल एवं अन्य जन प्रतिनिधियों ने भी स्व. काशीराम विश्नोई को श्रद्धांजलि अर्पित की। वहां से मुख्यमंत्री हेलिकॉप्टर से पीपाड़ शहर पहुंचे और पूर्व पार्षद व पूर्व सरपंच स्व. सत्यनारायण शर्मा के निवास पहुंचकर उनके निधन पर गहरा शोक प्रकट किया। गहलोत ने स्व. शर्मा की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने स्व. शर्मा की धर्मपत्नी सविता दायमा व पुत्र शैलेश दाधीच से मिलकर उन्हें ढांढस बंधाया।

जैन मुनि हीराचंद की कुशलक्षेम पूछी
मुख्यमंत्री ने पीपाड़ शहर में जैन मुनि हीराचंद जी से मिलकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। इससे पहले मुख्यमंत्री के हेलीपेड पहुंचने पर जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता, आईजी पी.रामजी, पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने अगवानी की। पीपाड़ शहर नगरपालिका अध्यक्षा समू देवी ने मुख्यमंत्री का बुके भेंट कर स्वागत किया। पीपाड़ से जयपुर लौटते समय हेलीपैड परिसर में गहलोत ने पीपाड़ शहर के गणमान्य नागरिकों से भी मुलाकात की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

भारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...योगी की राह पर दक्षिण के बोम्मई, इस कानून को लागू करने वाला नौवां राज्य बना कर्नाटकSri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे की बची कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव हुआ खारिज900 छक्के, IPL 2022 में रचा गया इतिहास, बल्लेबाजों ने 15वें सीजन में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्डIPL 2022 : 65वें मैच के बाद हुआ बड़ा उलटफेर ऑरेंज कैप पर बटलर नंबर- 1 पर कायम, पर्पल कैप में उमरान मलिक ने लगाई छलांगज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होभाजपा के पूर्व सांसद व अजजा आयोग के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष के इस पोस्ट से मचा बवाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.