बेटा नहीं हुआ तो तीन बेटियों की मां को जिंदा जला डाला, फिर भी पुलिस नहीं कर रही आरोपी ससुरवालों पर कार्रवाई

बेटे की चाह में पति ने ही छीन ली पत्नी की जिंदगी, राजनीतिक प्रभाव के चलते पुलिस नहीं कर रही कोई कार्रवाई।

By: rajesh walia

Updated: 16 May 2018, 10:01 AM IST

जैसलमेर/जोधपुर। लड़के की चाह रखने वाले एक पति पर कथित रूप से अपने परिवार वालों की मदद से पत्नी को जलाने का मामला कुछ दिन पहले ही सामने आया था। मामले में बताया गया था कि जलाई गई महिला की तीन बेटियां हैं और ससुराल वाले एक बेटा चाहते थे। बेटा ना होने पर पति ने अपनी परिवार के साथ मिलकर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद आक्रोशित पिता ने मामले में दहेज और हत्या का केस दर्ज किया गया था। इस पूरे मामले को हुए 25 दिन से भी ज्यादा समय हो चुका है लेकिन न्याय मिलना तो दूर की बात है अभी तक पुलिस द्वारा मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार भी नहीं किया गया है।इससे आक्रोशित पिता ने आईजी (जोधपुर रेंज) हवासिंह घुमरिया को ज्ञापन सौंप रसूखदार आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

 

आपको बता दें कि शहर के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड इलाके की दिव्यानी नाम की 29 वर्षीय महिला को पिछले 19 अप्रैल को जलाकर मारने का आरोप उसके पति गोपाल पर लगा था। मूल रूप से पाली जिले की रहने वाली दिव्यानी उर्फ रश्मि की शादी करीब 13 साल पहले एक दुकान चलाने वाले जैसलमेर के भीखोड़ाई निवासी गोपालकृष्ण पुत्र लच्छीराम राणेजा के साथ हुई थी। इसके बाद से ही ससुराल वाले रश्मि को दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। साथ ही रश्मि के तीन बेटियां हुईं, लेकिन बेटा नहीं होने पर सास रुखमो देवी, ससुर लच्छीराम व पति गोपालकृष्ण उसे प्रताड़ित करने लगे। यह बात उसने अपने पीहर में मां को भी बताई, लेकिन हर बार परिवार वालों ने उसके सास-ससुर व पति से समझाइश कर ऐसा नहीं करने का आग्रह किया, लेकिन उनके व्यवहार में कमी नहीं आई। इसी बीच 19 अप्रैल की अलसुबह करीब तीन बजे रश्मि के जेठ राधेश्याम ने फोन कर कन्हैयालाल को तत्काल एमजीएच पहुंचने को कहा। बदहवास पिता हॉस्पिटल पहुंचे तो पता चला कि रश्मि जल गई है। पिता ने इस बारे में बेटी से पूछा तो वह इतना ही बता पाई कि उसे पति ने सास-ससुर के साथ मिलकर जलाया है। डॉक्टर के मुताबिक, जोधपुर ? के सरकारी अस्पताल में शुक्रवार को लाई गई महिला करीब 90 प्रतिशत से ज्यादा जली अवस्था में थी। इसके चलते अगले ही दिन रश्मि की मौत हो गई। रश्मि के पिता कन्हैयालाल का आरोप है कि गोपाल उसे बेटे की चाहत में लगातार प्रताड़ित कर रहा था। उन्होंने ससुराल पक्ष पर बेटी की हत्या का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया है।

 

इस पूरे मामले में राजस्थान स्टेट कमीशन फॉर वीमन के चेयरपर्सन सुमन शर्मा ने भी संज्ञान में लेते हुए पुलिस से जल्द से जल्द कार्रवाई करने को भी कहा था। इस प्रकरण में पुलिस ने तीन नामजद आरोपी होने के बावजूद भी सिर्फ आरोपी पति गोपा? कृष्ण ?? को ही गिरफ्तार किया है। अन्य को राजनीतिक प्रभाव के चलते पुलिस जानबूझकर गिरफ्तार नहीं कर रही है। ऐसे में इस प्रकरण की जांच अन्य अधिकारी से कराने और आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है। वही पुलिस के मुताबिक इस पूरे मामले में ससुराल पक्ष का कहना है कि महिला गैस सिलेंडर लीक होने की वजह से जली है।

Show More
rajesh walia Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned