World music day : संगीत का जुनून सुकून, ताजगी और सेहत देता है

MI Zahir

Updated: 21 Jun 2019, 02:43:40 AM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

एम आई जाहिर/ जोधपुर. गुनगुनाती हुई आती हैं फलक से बूंदें, कोई बदली तेरी पाजेब से टकराई है। सुहाना खुशगवार मौसम हो या कुदरत के नजारे, संगीत हर शख्स के दिल को सुकून ( relaxation ) देता है। संगीत चाहे शास्त्रीय हो सुगम संगीत, पूरब का हो या पश्चिम का संगीत, लोक संगीत हो या वैस्टर्न म्यूजिक, वह चाहे पॉप हो या जैज, फ्यूजन हो या रीमिक्स,हर म्यूजिक की धुन सभी का मन मोह लेती है। आज के संगीत में फिल्मी संगीत के साथ-साथ म्यूजिक एलबम्स ने भी संगीत को लोकप्रिय बना दिया है। इनमें ऑडियो और वीडियो एलबम्स भी शामिल हैं। टीवी चैनल्स और मोबाइल के कारण हर तरह के संगीत की लोगों तक पहुंच बन गई है। आज पुरानी पीढ़ी पुराने नगमे और शास्त्रीय संगीत पसंद करती है तो आज के यूथ को वैस्टर्न म्यूजिक का पैशन है। वल्र्ड म्यूजिक डे ( World Music Day ) पर पत्रिका ने संगीत से जुडे एेसे ही कुछ फनकारों से बातचीत की। पेश है बातचीत के अंश :

संगीत के प्रति जागरूकता बढ़ी

मैं बस इतना कहना चाहता हंू कि आप सभी संगीत ख़ूब सुनें गायें, बजाएं ओर ख़ूब आनंद उठाएं। ये बहुत अच्छी बात है कि लोगों की संगीत के प्रति जागरूकता बढ़ी है। पंडित मुकुंद क्षीरसागर, गायक

...

संगीत बिना जीवन अधूरा

संगीत की बिना जीवन अधूरा होता है। संगीत कायनात को आत्मा देता है, मन को पंख देता है, कल्पना और जीवन को हर चीज़ के लिए उड़ान देता है। संगीत एक ऐसी भाषा है जो दिल से निकलती हैं और दिल तक पहुचती है।

-सतीशचंद्र बोहरा, तबला वादक

...

संगीत मानव जाति के लिए वरदान

संगीत मानव जाति के लिए एक वरदान है। मैं खुद बहुत सौभाग्यशाली मानती हूं कि मुझे खुदा ने संगीत से नवाजा है। इसके साथ साथ मेरे माता पिता ने मुझे इस कला के क्षेत्र में आगे बढऩे के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया है।

-हरगुनकौर, गायिका

संगीत ईश्वर की शक्ति

संगीत ईश्वर की शक्ति है। ईश्वर के हर स्वर में राम बसे हैं। रागी जो सुनाए, रागिनी रोगी को मिले आराम। संगीत एक ऐसी प्राकृतिक शक्ति है जो ह्रदय को सबसे अधिक स्पंदित करती है।

-पंकज बिस्सा, गायक

मन के तार झंकृत करता है संगीत

संगीत वह शक्ति है जो मन के तारों को झंकृत कर देता है.। जब संगीत के सातों स्वर अपनी छटा बिखेरते हैं तो राग रागिनी अपना प्रभाव दिखाती है और प्राणिमात्र को पारलौकिक सुख का अनुभव होता है।

-भूमिका सेवानी,हारमोनियम वादक

संगीत एक नैतिक कानून

संगीत एक नैतिक कानून है। यह कायनात को आत्मा, मन को पंख, कल्पना को उड़ान और जीवन को आकर्षण और सबके लिये उल्लास देता है। -आशीष दाधीच, बांसुरीवादक

म्यूजिक साथ देता है

कुछ लोग अपनी मनोदशा बदलने के लिए संगीत सुनते हैं और कुछ बस इसे आनंद लेने के लिए सुनते हैं। जब भी कोई व्यक्ति अकेला महसूस करता है तो म्यूजिक उसका साथ देता है।

-अखिल बोहरा, गिटारवादक

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned