scriptWatch- विश्व फोटोग्राफी दिवस- अब हर हाथ में नजर आते है कैमरा |world photography day- Now the camera is seen in every hand | Patrika News
जोधपुर
Watch- विश्व फोटोग्राफी दिवस- अब हर हाथ में नजर आते है कैमरा
5 Photos
Published: August 19, 2021 01:16:14 pm
1/5

जोधपुर. आज फोटोग्राफी दिवस है। कैमरे का अविष्कार होने के बाद फोटोग्राफी ने भी कई बदलाव देखे हैं और आज स्थिति यह है कि हर हाथ में कैमरा है। डिजीटल फोटोग्राफी ने फोटो खींचने और प्रस्तुत करने के तरीके भी बदल दिए हैं। कभी भारीभरकम रील वाले कैमरे और स्टूडियो की चकाचौंध होती थी, लेकिन अब डिजीटल डीएसएलआर कैमरों से लेकर मोबाइल तक में पॉवरफुल कैमरों ने हर हाथ को फोटोग्राफी का हुनर थमा दिया है। लोग न सिर्फ आसानी से फोटो खींच लेते हैं, बल्कि कुछ ही देर में फोटो आगे पहुंच भी जाती है। लोगों में फोटो खींचने का क्रेज मंदिरों तक पहुंचा नजर आता है, तभी तो ठाकुरजी के सामने भी सजाई जाती है फोटोग्राफी दिवस की झांकी। फोटो- जेके भाटी

2/5

जोधपुर. आज फोटोग्राफी दिवस है। कैमरे का अविष्कार होने के बाद फोटोग्राफी ने भी कई बदलाव देखे हैं और आज स्थिति यह है कि हर हाथ में कैमरा है। डिजीटल फोटोग्राफी ने फोटो खींचने और प्रस्तुत करने के तरीके भी बदल दिए हैं। कभी भारीभरकम रील वाले कैमरे और स्टूडियो की चकाचौंध होती थी, लेकिन अब डिजीटल डीएसएलआर कैमरों से लेकर मोबाइल तक में पॉवरफुल कैमरों ने हर हाथ को फोटोग्राफी का हुनर थमा दिया है। लोग न सिर्फ आसानी से फोटो खींच लेते हैं, बल्कि कुछ ही देर में फोटो आगे पहुंच भी जाती है। लोगों में फोटो खींचने का क्रेज मंदिरों तक पहुंचा नजर आता है, तभी तो ठाकुरजी के सामने भी सजाई जाती है फोटोग्राफी दिवस की झांकी। फोटो- जेके भाटी

3/5

जोधपुर. आज फोटोग्राफी दिवस है। कैमरे का अविष्कार होने के बाद फोटोग्राफी ने भी कई बदलाव देखे हैं और आज स्थिति यह है कि हर हाथ में कैमरा है। डिजीटल फोटोग्राफी ने फोटो खींचने और प्रस्तुत करने के तरीके भी बदल दिए हैं। कभी भारीभरकम रील वाले कैमरे और स्टूडियो की चकाचौंध होती थी, लेकिन अब डिजीटल डीएसएलआर कैमरों से लेकर मोबाइल तक में पॉवरफुल कैमरों ने हर हाथ को फोटोग्राफी का हुनर थमा दिया है। लोग न सिर्फ आसानी से फोटो खींच लेते हैं, बल्कि कुछ ही देर में फोटो आगे पहुंच भी जाती है। लोगों में फोटो खींचने का क्रेज मंदिरों तक पहुंचा नजर आता है, तभी तो ठाकुरजी के सामने भी सजाई जाती है फोटोग्राफी दिवस की झांकी। फोटो- जेके भाटी

4/5

जोधपुर. आज फोटोग्राफी दिवस है। कैमरे का अविष्कार होने के बाद फोटोग्राफी ने भी कई बदलाव देखे हैं और आज स्थिति यह है कि हर हाथ में कैमरा है। डिजीटल फोटोग्राफी ने फोटो खींचने और प्रस्तुत करने के तरीके भी बदल दिए हैं। कभी भारीभरकम रील वाले कैमरे और स्टूडियो की चकाचौंध होती थी, लेकिन अब डिजीटल डीएसएलआर कैमरों से लेकर मोबाइल तक में पॉवरफुल कैमरों ने हर हाथ को फोटोग्राफी का हुनर थमा दिया है। लोग न सिर्फ आसानी से फोटो खींच लेते हैं, बल्कि कुछ ही देर में फोटो आगे पहुंच भी जाती है। लोगों में फोटो खींचने का क्रेज मंदिरों तक पहुंचा नजर आता है, तभी तो ठाकुरजी के सामने भी सजाई जाती है फोटोग्राफी दिवस की झांकी। फोटो- मनोज सैन

5/5

जोधपुर. आज फोटोग्राफी दिवस है। कैमरे का अविष्कार होने के बाद फोटोग्राफी ने भी कई बदलाव देखे हैं और आज स्थिति यह है कि हर हाथ में कैमरा है। डिजीटल फोटोग्राफी ने फोटो खींचने और प्रस्तुत करने के तरीके भी बदल दिए हैं। कभी भारीभरकम रील वाले कैमरे और स्टूडियो की चकाचौंध होती थी, लेकिन अब डिजीटल डीएसएलआर कैमरों से लेकर मोबाइल तक में पॉवरफुल कैमरों ने हर हाथ को फोटोग्राफी का हुनर थमा दिया है। लोग न सिर्फ आसानी से फोटो खींच लेते हैं, बल्कि कुछ ही देर में फोटो आगे पहुंच भी जाती है। लोगों में फोटो खींचने का क्रेज मंदिरों तक पहुंचा नजर आता है, तभी तो ठाकुरजी के सामने भी सजाई जाती है फोटोग्राफी दिवस की झांकी। फोटो- एसके मुन्ना

अगली गैलरी
Watch- ओस की बूंदों से खिल उठा फूलों का सौन्दर्य
next
loader

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.