मैं भारत हूँ के रास्ते पर युवा कदम

- बालिका शिक्षा से जोड़ा अपना सामाजिक संदेश और राष्ट्रभक्ति की भावना

By: Arvind Singh Rajpurohit

Published: 12 Nov 2017, 08:29 PM IST

बासनी(जोधपुर). सपने देखने के लिए उम्र कभी मायने नहीं रखती है बशर्ते जरुरत है तो उसे पूरा करने की जिद। मन में कुछ ऐसे ही सपनों को पूरा करने की जिद लिए पार्वती जांगिड़ युवाओं में राष्ट्रभक्ति जगाने का कार्य कर रही है। जहां एक तरफ कई युवा परिवार, समाज व देश संस्कृति से भटक कर गलत राह चुन रहे हैं, वहीं जांगिड़ ऐसे युवाओं को देश के लिए कुछ कर गुजरने की तमन्ना मन में जगा रही है। अपने इन्हीं प्रयासों से देश-विदेश में जोधपुर का नाम रोशन करने वाली यूथ पार्लियामेंट की चेयरमैन पार्वती जांगिड़ के बुलंद इरादों की कहानी उन्हीं की जुबानी।

बाड़मेर जिले के छोटे से गांव में हुआ जन्म

बालिकाओं की शिक्षा को समर्पित विश्व के गर्ल राइजिंग-सेव दी गर्ल चाइल्ड एंड एजुकेट देम की ब्रांड एम्बेसडर जांगिड़ का जन्म बाड़मेर जिले के गागरिया गांव 7 दिसंबर 1996 में हुआ। प्रारम्भिक शिक्षा गांव में ही सम्पन्न हुई। आगे की पढ़ाई करने के लिए जोधपुर आना पड़ा। यहां से शुरु हुआ सपनों को पंख लगाने का दौर। जांगिड़ बताती है वर्ष 2013 में सिविल सेवाओं की तैयारी के लिए कोचिंग संस्थान जा रही थी। उसी दौरान रास्ते में कुछ युवा मानसिक रुप से विक्षिप्त महिला के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश कर रहे थे। उस घटना से ही मन में कुछ करने का ठान लिया। ऐसे ही कुछ उद्देश्य के साथ वर्ष 2015 में यूथ पार्लियामेंट नाम से संगठन की स्थापना की।

बालिकाओं को मिले शिक्षा का अधिकार
शिक्षा के युग में भी समाज के कई तबकों में बालिकाओं को शिक्षा से वंचित रखा जाता है। ऐसे में जांगिड़ ने बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए महिलाओं को जागरुक करने का कार्य शुरु किया। साथ ही समाज को बालिकाओं के प्रति सदियों से चली आ रही सोच में परिवर्तन लाने के लिए एक बीड़ा उठाया। इसके साथ ही विभिन्न सामाजिक कार्यों से समाज को जागरुक करने का प्रयास कर रही है। पार्वती अगले माह दिसंबर में शहीदों के सम्मान में मैं भारत हूं की भावना प्रसार करने के लिए कार्यक्रम आयोजित कराने जा रही है इसमें भूटान के पहले लोकतांत्रित प्रधानमंत्री जिग्मी वाई थिनले मुख्य अतिथि होंगे।

सैनिकों के लिए भारत श्री का सम्मान
देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों का उत्सर्ग करने वाले सैनिकों को सम्मान देने के उद्देश्य के साथ संगठन की ओर से सैनिकों को भारती श्री का सम्मान दिया जाता है। संगठन की ओर से सैनिकों के नाम के आगे भारत श्री लगाने के लिए लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है।

सम्मानों की फेहरिस्त में कई नाम

अपने कार्यों की वजह से जांगिड़ को कई सम्मानों से नवाजा गया है। जिनमें तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, राज्यपाल कल्याण सिंह, व्हाइट हाउस अमेरिका सम्मान, वीमेन प्राइड, बीएसएफ की ओर से सिस्टर ऑफ बीएसएफ सम्मान, भारत गौरव, विश्वकर्मा रत्न सहित कई सम्मान मिल चुके हैं।

देश निर्माण के लिए आगे आए युवा
देश के निमार्ण एवं विकास के लिए युवाओं की भागीदारी आवश्यक है। वर्तमान समय में गलत राह चुनकर भटक रहे युवाओं को सही रास्ते पर लाना मेरा लक्ष्य है।- पार्वती जांगिड़, अध्यक्ष, युवा संसद।

Show More
Arvind Singh Rajpurohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned