VIDEO: बैंक के बाहर किसान को मोबाइल से बात करना पड़ा महंगा, बड़ी वारदात से मची खलबली

सूचना मिलते ही पुलिस कप्तान के एल धु्रव सहित क्रांइम ब्रांच व कोतवाली पुलिस की टीम जांच में जुट गई।

By: चंदू निर्मलकर

Published: 04 Jan 2018, 06:51 PM IST

कांकेर. जिला सहकारी बैंक के बाहर एक किसान को मोबाइल में बात करना उस वक्त मंहगा पड़ा जब किसी अज्ञात बदमाश में बैग में रखी दो लाख दस हजार रूपए को ले उड़ा। इसकी जानकारी होते ही आसपास खलबली मच गई। सूचना मिलते ही पुलिस कप्तान के एल धु्रव सहित क्रांइम ब्रांच व कोतवाली पुलिस की टीम जांच में जुट गई। आसपास के दुकानों में सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है। इधर इस घटना के बाद बैंक प्रबंधन भी सखते में आ गई है।

गुरूवार को ग्राम कोदागांव का किसान रोहीदास दर्रो (64) पिता देव जी अपने गांव के लोगों के साथ जिला सहकारी बैंक से पैसा निकालने बैंक पहुंचे थे। करीब 1.15 मिनट पर बैंक से पैसा निकालकर नीले रंग के थैला में पैसा रखा और बाहर निकल कर एक दुकान के बाहर बैठ कर अपने रिस्तेदार को फोन करने में लगा हुआ था, इसी बीच फोन में बात होने के दौरान रूपए से भरी बैग को अपने बाजू में रखा था। फोन में बातचीत के दौरान उसके गांव के साथी सोहन लाल देवांगन ने आकर घर जाने की बात पूछा। तब फोन काट कर अपने पैसा से भरी बैग को देखा तो वह गायब मिला।

आसपास पतासाजी करने के बाद भी नहीं मिला। इसकी जानकारी होते ही आसपास खलबली मची रही। किसी ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी। खबर मिलते ही क्राईम ब्रांच, कोतवाली पुलिस की टीम पहुंच कर जांच शुरू किए। कुछ लोगों से पूछताछ करने के बाद आसपास दुकानों में सीसी टी वी फुटेज में अज्ञात चोर के पतासाजी में लगे हैं।

पुलिस अधीक्षक भी पहुंचे
खबर मिलते ही पुलिस कप्तान के एल धु्रव भी घटना स्थल पहुंच कर बैंक प्रबंधन के संचालक से बातचीत कर उचित निर्देश दिया। वहीं, सीसी टी.वी. फुटेज निकालकर तत्काल जांच करने अपनी टीम को कहा। इस मौक पर एसडीओपी आकाश मरकाम, क्राईम प्रभारी बृजेश कुशवाह, कोतवाली प्रभारी विक्रांत सोन सहित अन्य अधिकारी व कर्मी शामिल थे।

 

CG news

एक माह में दूसरी घटना
यह बता दें कि उठाईगिरी का यह मामला दूसरी घटना है। करीब एक माह पहले इसी बैंक से पैसा निकालकर अपने घर जा रहे गढ़पिछवाड़ी के किसान का रूपए से भरे थैला को एक साइकिल स्टोर से बदमाशों ने गायब किया था, जिसके आरोपी अब तक पुलिस के गिरफ्त से बाहर है। फिर से यह दूसरी घटना को बदमाश ने अंजाम दिया है।

पीड़ित है सेवानिवृत्त एनएमडीसी कर्मी
जानकारी के अनुसार पिडि़त किसान पहले एनएमडीसी किरंदुल में पदस्थ था। चार वर्ष पहले ही सेवानिवृत्त होकर अपने गृहग्राम में किसानी का काम कर रहा है। उसके मुताबिक दो लाख दस हजार रूपए में पांच सौ के चार गड्डी और सौ रूपए के एक गड्डी थे, जिसे हर रंग के बैग में भर कर रखा था।

बाकी किसानों में दहशत का माहौल
इस घटना के बाद बैंक में आने वाले किसानों में दहशत का माहौल बना हुआ था। बैंक प्रबंधन के द्वारा परिसर में गिने-चुने स्थानों पर कैमरा लगाया गया, जिसकी खबर लगते ही किसानों ने नाराजगी जाहिर कर रहे है। अब किसान अपने आप को बैंक परिसर में असुरक्षित महसुस कर रहे हैं।

Show More
चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned