सात सितंबर से आंगनबाड़ी केन्द्रों का अब होगा संचालन

राज्य शासन द्वारा दिये गए निर्देशानुसार जिले में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के आंगनबाड़ी केन्द्र स का संचालन सोमवार 7 सितंबर से किया जायेगा।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 05 Sep 2020, 11:00 PM IST

कांकेर. राज्य शासन द्वारा दिये गए निर्देशानुसार जिले में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के आंगनबाड़ी केन्द्र स का संचालन सोमवार 7 सितंबर से किया जायेगा। आंगनबाड़ी केन्द्रों में तीन से छह वर्ष के बच्चों एवं गर्भवती माताओं तथा मुख्यमंत्री ग सुपोषण योजना के हितग्राहियों को प नास्ता एवं गर्म भोजन प्रदाय किये जायेंगे। दोपहर का पोषण आहार गरम भोजन के रूप में दिया जायेगा। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के कंटेनमेंट जोन में आने वाले आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन नहीं किया जायेगा।

प्रत्येक हितग्राही को भवन में प्रवेश करने के पूर्व साबुन से हाथ धूलाई सेनेटाईज किया जायेगा, जिनको सर्दी, खांसी, बुखार या अन्य बीमारी परिलक्षित हो तो उनका भवन में प्रवेश वर्जित होगा। भोजन पकाने के बर्तनों को उपयुक्त क्लिनिग पावडर एवं गरम पानी से साफ-सफाई तथा भोजन परोसते समय थाली में उपलब्धता के अनुसार केला पत्ता पत्तल रखा जायेगा। हितग्राही को अलग-अलग समूह में अलग-अलग समय पर बुलाया जायेगा ताकि सामाजिक दूरी बनाई जा सकें। एक समय में 15 से अधिक व्यक्ति भवन में नहीं रहेंगे। आगामी 6 दिसंबर तक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका को बच्चों के पालकों के साथ बैठक करने अथवा गृह भेंट कर इस संबंध में उनकी सहमति प्राप्त करने तथा कुपोषण से बचाव हेतु उठाये गये कदमों की जानकारी देने कहा गया है।

आंगनबाड़ी केन्द्र को गरम भोजन के लिए खोले जाने हेतु कोटवार के माध्यम से मुनादी कराने के निर्देश भी दिये गये हैं। आंगनबाड़ी स कार्यकर्ता एवं सहायिका प्रातः 10 बजट आंगनबाड़ी केन्द्र उपस्थित होकर नास्ता एवं गरम भोजन बनाने की तैयारी करेंगे और 12 बजे तक बच्चों को एवं 01 बजे तक गर्भवती व एनीमिया माताओं को भोजन कराया जायेगा।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका को विशेष रूप से निर्देशित किया गया है कि किसी भी स्थिति में में माताओं एवं बच्चों को एक साथ आंगनबाड़ी केंद्र में एक ही समय में न बुलाया जाये तथा इस दौरान शालापूर्व शिक्षा की गतिविधियां संचालित न किया जावे। उन्हे कोविड 19 के दिशा निर्देशो का पालन करने तथा कोरोना सेवा के समस्त सावधानियां एवं निर्देशों का पालन करते हुए आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालनकरने के लिए निर्देशित किया गया है। आंगनबाड़ी केन्द्रों की साफ-सफाई फिनाइल, ब्लीचिंग पाउडर से की जायेगी, इसके लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों में उपलब्ध अन्य आकस्मिक व्यय मद में उपलब्ध राशि का उपयोग किया जा सकता है।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned