मोहन भागवत का पुतला फूंकने से पहले हो गया ये झमेला, लोग लेते रहे मजा

मोहन भागवत का पुतला फूंकने से पहले हो गया ये झमेला, लोग लेते रहे मजा

Chandu Nirmalkar | Publish: Feb, 15 2018 04:27:04 PM (IST) Kanker, Chhattisgarh, India

इस दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के साथ नोक-झोंक हुई और पुलिस ने कांग्रेस सदस्यों से भागवत का पुतला छिन लिया।

कांकेर. युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने घड़ी चौक के पास आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का पुतला दहन करने की तैयारी कर रहे थे कि वहीं, दूसरी ओर कुछ संगठन के पदाधिकारी पहले से आकर इसका विरोध प्रदर्शन करने लगे। दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया। जब इसकी खबर लगी तो एसडीओपी आकाश मरकाम व कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाइश देने लगे। इस दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के साथ नोक-झोंक हुई और पुलिस ने कांग्रेस सदस्यों से भागवत का पुतला छिन लिया।

देश के सैनिकों के खिलाफ आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए एक बयान को लेकर युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष उमेश पटेल के निर्देश पर आरएसएस प्रमुख का पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी थी। युवक कांग्रेस अपने कार्यकर्ताओं के साथ घड़ी चौक पर एकत्र हुए थे कि बजरंग दल के पदाधिकारियों ने आरएसएस प्रमुख का पुतला जलाने का विरोध किया। इधर विवाद बढऩे की खबर पर एसडीओपी कांकेर व कोतवाली प्रभारी अपने दलबल के साथ घड़ी चौक पहुंच गए, जहां दोनों संगठन के पदाधिकारियों को समझाइश दी, इसके अलावा पुतला को जप्त कर उक्त स्थान से जाने की सलाह दी। पुलिस के साथ युकांइयों की भी तीखी नोक-झोंक हुई। समझाइश के बाद मामला शांत हो गया।

अंतत: युकांइयों ने किया विरोध प्रदर्शन
युकांइयों ने प्रशासन को चकमा देकर पीजी कॉलेज के पास मोहन भागवत का पुतला जला दिया। जिलाध्यक्ष पंकज वाधवानी ने कहा की आरएसएस और भाजपा लगातार देश के शान हमारे सैनिकों के खिलाफ ओछी बयानबाजी कर रहें हैं जो देशवासियों के लिए अपमान है। विधानसभा अध्यक्ष शिवांकित श्रीवास्तव ने कहा कि अंग्रेजों के मुखबिर रही आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत आज भी अपने पूर्वजों की राह पर हैं। जिला सचिव वेदप्रकाश शुक्ला, प्रकाश सिंग ठाकुर, विस उपाध्यक्ष हितेश नाग, तोहिद खान, खोमेंद्र ऊईके, ग्राम नेताम नरेश कुलदीप, रोहित यादव, अमित नायक ,राकेश रजक, अरशद रजा ,अकीत राजा तिवारी ,प्रदीप तिवारी, सूर्यभान यादव आदि थे।

विवाद की स्थिति की सूचना मिली थी, जाकर दोनों पक्षों को समझाइश दिया गया। किसने पुतला और जलाया है इसकी पतासाजी करवाई जा रही है।
आकाश मरकाम, एसडीओपी कांकेर

Ad Block is Banned