40 सालों से जल रही आस्था की दीप, लेकिन कोरोना वायरस से बचाव के लिए इस साल नही जलेगी मनोकामना ज्योत

शीतला माता मंदिर में 40 सालों से श्रद्धालुओं द्वारा जलाए जाने वाली मनोकामना ज्योति को 25 मार्च से प्रारंभ होने वाली चैत्र नवरात्र में प्रतिबंध का फैसला लिया गया है ।

By: Bhawna Chaudhary

Updated: 22 Mar 2020, 06:13 PM IST

कांकेर. नगर के शीतलापारा स्थित शीतला माता मंदिर में 40 सालों से श्रद्धालुओं द्वारा जलाए जाने वाली मनोकामना ज्योति को 25 मार्च से प्रारंभ होने वाली चैत्र नवरात्र में प्रतिबंध का फैसला लिया गया है ।

शीतला मंदिर पुजारी खिलावन प्रसाद माली अपूर्ण प्रसाद माली ने जानकारी दिया कि प्रति वर्ष की भांति नवरात्र की तैयारी को लेकर बैठक आहूत किया गया जिसमें कई विषयों पर चर्चा किया गया और फैसला लिया गया कि इस वर्ष मनोकामना ज्योति नहीं चलाया जाएगा ।

जिस प्रकार इस वर्ष पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण तेरे से महामारी का रूप में फैल रही है इसके रोकथाम और बचाव के लिए शासन-प्रशासन तमाम तरह के प्रयास भी कर रहे हैं । हाल ही में प्रदेश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आने के और सभी नगरीय क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दिया गया है ताकि किसी भी स्थान पर भी नजर ना आए ।

इन सबको देखते हुए श्रद्धालुओं और मंदिर के पुजारी ने फैसला लिया कि 25 मार्च को प्रारंभ होने वाली भीड़ को कम करने के लिए 40 वर्षों से अनवरत जलाने वाली मनोकामना में प्रतिबंद बंद कर दिया गया है । इसे कोरोना वायरस में बचाव किया जा सके माता के सामने चलने वाली मुख्य ज्योति प्रज्ज्वलित की जाएगी ।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned