भाई ने कहा - वक्त आ गया है पापा अब घर कर दो मेरे नाम, मना किया तो बहन की कर दी बेरहमी से हत्या

भाई ने कहा - वक्त आ गया है पापा अब घर कर दो मेरे नाम, मना किया तो बहन की कर दी बेरहमी से हत्या
भाई ने कहा - वक्त गया है पापा अब घर कर दो मेरे नाम, मना किया तो बहन की कर दी बेरहमी से हत्या

Bhawna Chaudhary | Updated: 14 Sep 2019, 11:18:40 AM (IST) Kanker, Kanker, Chhattisgarh, India

भाई ने कहा - वक्त गया है पापा अब घर कर दो मेरे नाम, मना किया तो बहन की कर दी बेरहमी से हत्या

कांकेर. एक भाई ने प्रॉपर्टी के लालच में अपनी बहन की बेरहमी से हत्या कर दी है। घटना के बाद माता-पिता ने जब खूनी वारदात का ऐसा मंजर देखा तो पैरो तले जमीन ही खिसक गई।यह घटना कांकेर जिले की है।

बहन की शादी के बाद प्रॉपर्टी हो जाएगी मेरे नाम लेकिन...
मिली जानकारी के अनुसार ग्राम ओटेकसा निवासी संतुराम तुलावी (40) पिता मुरहा राम ने पुलिस को बताया कि वह डेढ़ साल से अपने बड़े पिता देशीराम तुलावी के घर रह रहा था। बड़े पिता के पास कोई बेटा नहीं था, उसकी एक मात्र बेटी पुष्पा तुलावी (18) ही थी। बड़े पिता के घर, खेत, बाड़ी को देखने वाला कोई नहीं था। आरोपी ने बताया कि उनके घर में डेढ़ साल से खेत बाड़ी में काम कर रहा था। मैंने सोचा कि मेरी चचेरी बहन की एक दिन शादी हो जाएगी और वह ससुराल चली जाएगी तो पूरी जमीन खेत, बाड़ी सब मेरे नाम हो जाएगा, लेकिन मेरे बड़े पिता की बेटी ने गांव के ही एक युवक से शादी कर ली।

हत्या की रची साजिश
घर खेत बाड़ी जमीन सब मेरे हाथ से जाते देख मैंने अपनी चचेरी बहन को मारने की योजना बनाई थी। मौका पाते ही 10 सितम्बर को सुबह जब मेरी चचेरी बहन घर के पास परछी के नीचे बैठी थी उसी समय कुल्हाड़ी से सिर पर वार कर दिया। मेरी बड़ी मां दुलारीबाई ने मुझे कुल्हाड़ी से देख लिया जिसके बाद मैं वहां से फरार हो गया था।

परिजन बोले- समय पर नहीं मिला इलाज
परिजनों ने थाना में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि घटना के बाद जब १०८ को फोन लगाया तो घर तक नहीं आई। जख्मी बेटी को गंभीर हालत में दो किमी पैदल एम्बुलेंस तक लेकर गए, जिसके बाद दुर्गूकोंदल अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे जिला अस्पताल के लिए भेज दिया। कांकेर अस्पताल में जाने पर वहां से रायपुर के लिए रेफर कर दिया गया।

रास्ते में हुई मौत
इस तरह से जख्मी युवती की स्थिति और गंभीर होती गई और उसके सिर से लगातार खून बहता गया जिस कारण समय पर उपचार नहीं मिलने के कारण रास्ते में ही मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि दुर्गूकोंदल से सीधे रायपुर के लिए रेफर करते तो दो तीन घंटे पहले ही रायपुर पहुंच जाते तो शायद युवती की जान बच गई होती। रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned