चुनाव आयोग ने एसडीएम से मांगा जबाब, जांच की फाइल तहसील दफ्तर में लटकी

चुनाव आयोग ने एसडीएम से मांगा जबाब, जांच की फाइल तहसील दफ्तर में लटकी

Deepak Sahu | Publish: Sep, 08 2018 03:37:57 PM (IST) Kanker, Chhattisgarh, India

तहसील दफ्तर कांकेर में सेवा दे रहे सहायक ग्रेड-दो कर्मचारी की शिकायत चुनाव आयोग रायपुर तक पहुंच गई है।

कांकेर. तहसील दफ्तर कांकेर में सेवा दे रहे सहायक ग्रेड-दो कर्मचारी की शिकायत चुनाव आयोग रायपुर तक पहुंच गई है। सरकारी कर्मचारी रहते हुए एक विशेष पार्टी का प्रचार एवं धर्मांतरण कराने का आरोप सहायक ग्रेड-2 कर्मचारी पर लगा है। शिकायती पत्र मिलते ही चुनाव आयोग ने एक माह पहले एसडीएम कांकेर से जांचकर 30 अगस्त 2018 तक जबाब प्रस्तुत करने के लिए पत्र जारी किया था। चुनाव आयोग के पत्र को ठेंगा दिखाते हुए अफसरों ने तो जांच की न ही जबाब भेजा। इस फाइल को तहसील दफ्तर में जांच के नाम पर लटका दिया गया है।

चारामा में पदस्थापना और वर्षों से कांकेर तहसील में अपनी सेवा दे रहे सहायक ग्रेड-2 कर्मचारी शैलेंद्र चांद पर तहसील दफ्तर आने वाले युवकों को एक विशेष दल वोट देने एवं धर्मांतरण कराने का आरोप लगा है। वोट देने एवं धर्म बदलवाने पर आर्थिक प्रलोभन का भी आरोप है। चुनाव में एक दल के प्रचार-प्रसार पर रोक लगाने के लिए सतीश यादव ने चुनाव आयोग को 21 मई 2018 को एक शिकायती पत्र भेजा था। उक्त शिकायती पत्र के आधार पर चुनाव आयोग ने अनुविभागीय अधिकारी कांकेर को 30 अगस्त 2018 तक जांचकर जबाब प्रस्तुत करने पत्र जारी किया था। चुनाव आयोग का पत्र मिलते ही खलबली मची और एसडीएम ने तहसीलदार के हवाले जांचकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने पत्र भेज दिया। चुवाव आयोग को जांच के नाम पर अफसरों ने ठेका दिखा दिया है। जांच के नाम पर तहसील दफ्तर में एक माह से पत्र पड़ा है।

केस-1
राजेश भास्कर ने स्टाम्प पेपर पर लिखित हलफनामा देते हुए तहसीलदार को अवगत कराया है कि शैलेंद्र चांद ने ईसाई धर्म परिवर्तन का प्रलोभन दिया था। ऐसे में सवाल खड़ा हो रहा कि शासकीय कर्मचारी किसी को धर्मांतरण के लिए कैसे बाध्य कर सकता है। ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं सतीश यादव ने बताया कि उन्हें भी नोटिस मिली है। लिखित हलफनामा तहसीलदार को दे दिया हूं। सहायक ग्रेड-२ कर्मचारी काफी समय से धर्मांतरण करा रहा है।
केस-2
कन्हारपुरी निवासी मनोज तेता ने सहायक ग्रेड-२ कर्मचारी शैलेंद्र चांद पर आरोप लगाते हुए स्टाम्प पेपर पर लिखित हलफनामा दिया है कि उसे विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के पक्ष मतदान करने प्रलोभन दिया है। तहसीलदार से लिखित शिकायत करने पर मुझे ही नोटिस पकड़ा दिया गया। ६ सितम्बर को तहसीलदार ने बुलाया था। मैं लिखित हलफनाम पुन: तहसीलादर को देने गया तो कर्मचारियों ने आवेदन लेने से इनकार कर
दिए। इसके बाद एसडीएम को उपस्थिति होने का पत्र सौंप दिया हूं।

सहायक ग्रेड-2 कांकेर के शैलेंद्र चांद ने बताया आप तहसील दफ्तर आए। तहसीलदार से जानकारी ले लिजिए। मैं कुछ नहीं बोलूंगा, उक्त मामले में पेशी चल रही है। आरोप झूठा लगाया गया है।

कांकेर तहसीलदार, टीपी साहू ने बताया दो लोगों ने शिकायत की है। उक्त मामले की जांच की जारी है। शिकायत करने वालों को नोटिस भेजा गया है। शिकायतकर्ता को जबाब के लिए बुलाया गया है।

Ad Block is Banned