नक्सल प्रभावित इलाकों के युवाओं को अब मिलेगा रोजगार, पुलिस ने बनाया ये प्लान

नक्सल प्रभावित इलाकों के युवाओं को अब मिलेगा रोजगार, पुलिस ने बनाया ये प्लान

Anjalee Singh | Updated: 12 Jun 2019, 06:09:39 PM (IST) Kanker, Kanker, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ के नक्सल (Naxal in chhattisgarh) प्रभावित इलाकों के युवाओं को रोजगार (Job in chhattisgarh)) देने के लिए पुलिस ने एक नया प्लान बनाया है।

शशिकांत ओझा@कांकेर. छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित (Naxalite affected area) क्षेत्रों में सुरक्षा बल शिविर स्थापना का सकारात्मक औचित्य और युवाओं को मुख्य धारा से जोडऩे के लिए कलक्टर व एसपी (Chhattisgarh Police) ने एक अनोखी पहल की है। सैन्य शिविर के पांच किमी परिधि के गांवों के युवाओं को स्वरोजगार के अवसर देने के लिए (Job in Chhattisgarh) कार्ययोजना तैयार की गई है। युवाओं को सामूहिक खेती सहित मुर्गी पालन, मत्स्य पालन की सुुविधा मुहैया कराई जाएगी।

सुकमा के नए पुलिस कप्तान ने संभाली कमान, कहा जिले को नक्सल मुक्त बनाना ही मेरा लक्ष्य

माओवाद प्रभावित जिले उत्तर बस्तर कांकेर के कलक्टर केएल चौहान व पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव का मानना है कि जिन माओवाद प्रभावित इलाकों में सैन्य शिविर स्थापित किया गया है वहां के पांच से सात किमी परिधि के गांवों में माओवादी गतिविधियां कम हो जाती है। ऐसे में यहां के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करा उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ा जा सकता है। प्रशासन की तैयारी है कि वहां सरकारी जमीन आदि पर युवाओं के लिए सामूहिक खेती आदि की कार्ययोजना तैयार हो। कलक्टर एसपी का मानना है कि यहां के युवाओं के स्वरोजगार से उत्पन्न सब्जी आदि सैन्य शिविरों में ही आपूर्ति हो जाएगी। मुर्गी फार्म या अंडा को भी सैन्य शिविर में आपूर्ति कर दिया जाएगा। एमडीएम में भी सप्लाई हा जाएगी। इसके लिए बाजार तलाशने की जरूरत नहीं है।

ताकि लोगों को लगे कि पुलिस उनके लिए है
पुलिस अधीक्षक केएल धु्रव ने कहा कि इस तरह के सोच की शुरूआत सोशल पुलिसिंग के तहत किया जा रहा है। कैंप की स्थापना का उद्देश्य केवल माओवादियों के लिए नहीं है। प्रयास होना चाहिए कि इससे समाज को अच्छा संदेश जाए। कहा कैंप की पांच किमी परिधि में लोगों को बुनियादी सुविधाएं मिले इसके लिए भी प्रयास हो रहे हैं।

CRPF के जवानों ने पेश की मानवता की मिसाल, आठ किलोमीटर पैदल चल बचाई मासूम की जान

रोजगार की सारी सुविधाएं देंगे : कलक्टर
कलक्टर केएल चौहान ने कहा कि युवाओं को रोजगार के लिए जमीन, जमीन की सुरक्षा के लिए उसकी घेरा बंदी, सुजला सौर योजना के तहल बोर आदि की सुविधा देकर युवाओं को सामूकि रूप से सब्जी की खेती की शुरूआत कराई जाएगी। उद्यानिकी विभाग उन्हें पूरा सहयोग व समर्थन देगा। इससे युवा आत्मनिर्भर होंगे और समाज की मुख्य धारा में जुड़ेंगे।

सलवा जुडूम के प्रकोप से उभरेगा नक्सल प्रभावित सुकमा, अब मिलेंगी ये सभी सुविधाएं

नाली, पुल, टॉवर का भी कर रहे प्रस्ताव
एसपी केएल धु्रव की माने तो जहां कैंप स्थापित है वहां के आसपास के गांवों में विकास के आयाम भी पुलिस तैयार कर रही है। कैंप के समीपवर्ती गांवों में जहां पुल बिजली मोबाइल टॉवर आदि की आवश्यकता है उसका सर्वे कर प्रस्ताव कलक्टर के माध्यम से शासन को भेजा जा रहा है। कहा कि आज भी पुलिस को देख आदिवासी पहाड़ों पर जाकर छिप जाते हैं और तब तक नहीं आते जब तक पुलिस वापस नहीं आ जाती। यह स्थिति बदलनी है।

Chhattisgarh h से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned