सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर पांच लाख रुपए ठगी, जुर्म दर्ज

बेरोजगारी की मार झेल रहे एक युवक को उसके पहचान के कुछ युवकों मंत्रालय में सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर पांच लाख रुपए ठगी कर ली।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 08 Oct 2020, 04:08 PM IST

कांकेर. चारामा थाना क्षेत्र एक ठगी का मामला सामने आया है। जब बेरोजगारी की मार झेल रहे एक युवक को उसके पहचान के कुछ युवकों मंत्रालय में सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर पांच लाख रुपए ठगी कर ली। पीड़ित की शिकायत पर चारामा पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम लखनपुरी निवासी रामेश्वर कोर्राम पिता आत्माराम कोर्राम ने थाना में ठगी का मामला दर्ज कराते हुए बताया कि पूर्व से परिचित आरोपी त्रिवेन्द्र कुंजाम ग्राम तारसगांव निवासी ने वर्ष 2019 अक्टूबर-नवंबर माह में अपने मित्र जितेन्द्र पोया के साथ उसके घर आता-जाता था। त्रिवेन्द्र कुंजाम हमेशा कहता था कि उसकी रायपुर मंत्रालय में अधिकारियों से जान पहचान है। कभी किसी को नौकरी लगवाना हो तो बताना। तब पीड़ित ने वर्ष 2019 में त्रिवेन्द्र कुंजाम से बोला कि मैं भी पढ़ा लिखा हूं। मंत्रालय में जान पहचान है तो मेरी नौकरी लगवा दो। तब त्रिवेन्द्र कुंजाम ने बोला कि वह बात करता है।

23 दिसंबर 2019 को त्रिवेंद्र अपने मित्र जितेन्द्र के साथ लखनपुर बस स्टैंड के पास आया और पीडित से कहा, उसकी मंत्रालय में अधिकारी से बात हो गई है। क्लर्क पोस्ट है। पांच लाख की व्यवस्था करे। 26 दिसम्बर को त्रिवेंद्र कुंजाम घर पर बुलाया तो वह अपने साथी जितेन्द्र पोया के साथ कार से शाम 4 बजे पहुँचा। तो पीड़ित की मां चिंतामणी कोर्राम, ओमप्रकाश पोया, विजय शोरी के सामने त्रिवेन्द्र कुंजाम को 5 लाख नकद दे दिया। 27 दिसंबर को त्रिवेन्द्र कुंजाम ने पीड़ित को अपने कार में लेकर क्लर्क पद पर नौकरी की बात करने के लिए मंत्रालय रायपुर चला गया। मंत्रालय पहुंचने के बाद त्रिवेन्द्र कुंजाम ने बताया कि वह कार में बैठा रहे वह साहब से बात करके आता है।

पीड़ित दस्तावेज अपने साथ लेकर गया था। आरोपी कुछ देर बाद मंत्रालय से वापस आया और बोला कि उसकी बात हो गई है। कुछ दिनों में उसकी नौकरी का आदेश आ जाएगा। कुछ दिनों के बाद त्रिवेन्द्र ने पीड़ित के गांव आना जाना बंद कर दिया। एक माह बाद जब कोई आदेश नहीं आया तो पीड़ित ने आरोपी त्रिवेन्द्र के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो बंद था।

पीड़ित उसके घर गया तो उसकी मां ने कहा बार-बार त्रिवेन्द्र को यहां पर पूछने आएगा तो झूठे केस में फसा देगी। आरोपी त्रिवेन्द्र कुंजाम पिता गोवर्धन कुंजाम निवासी ग्राम तारसगांव रायपुर मंत्रालय में क्लर्क के पद पर नौकरी लगवाने के लिए पैसा लिया था। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ 420 का मामला दर्ज कर जांच में जुटी हैं।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned