छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल में मनोज सिंह मंडावी को मंत्री नहीं बनाने पर ये कांग्रेसी देंगे इस्तीफा

वे प्रदेश की पहले सरकार में मंत्री रह चुकें हैं और अनुभव भी है।

By: Deepak Sahu

Published: 30 Dec 2018, 11:45 AM IST

दुर्गूकोंदल. छत्तीसगढ़ के भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक मनोजसिंह मंडावी को मंत्री नहीं बनाने पर आक्रोशित दुर्गूकोंदल विकासखंड के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को बैठक आयोजित कर ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, सेक्टर अध्यक्ष, जोन प्रभारी, बूथ प्रभारी, कार्यकारिण सदस्य, जिला प्रतिनिधि, सक्रिय सदस्य, कांग्रेस समर्थित सरपंच, जिला पंचायत सदस्य, जनपद अध्यक्ष, जनपद उपाध्यक्ष ने पार्टी के पद और सदस्यता से इस्तीफा देने का निर्णय लिया।

बैठक में उपस्थित ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शोपसिंह आंचला, हुमन मरकाम, तोरण दुग्गा, बाबूलाल कोला, नारायण पटेल, नोहरसिंह तुलावी, रूमाराय, सविता उयके, दुर्गूकोंदल सरपंच संजू नरेटी ने कहा कि विधायक मनोजसिंह मंडावी बस्तर संभाग के वरिष्ठ विधायक हैं और अधिक लीड से चुनाव जीते हैं। वे प्रदेश की पहले सरकार में मंत्री रह चुकें हैं और अनुभव भी है। फिर भी भूपेश मंत्रिमंडल में मंत्री नहीं बनाया गया और भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र की आम जनता और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की उम्मीदों की उपेक्षा की गई है, जिससे हम आक्रोशित हैं।

इन्होने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान प्रदेश के स्टार चुनाव प्रचारक टीएस सिंहदेव दुर्गूकोंदल विकासखंड के कोड़ेकुर्से में आकर क्षेत्रवासियों से कहा था, कि मनोज मंडावी को चुनाव में जितायें, क्योंकि आप विधायक के साथ-साथ प्रदेश को एक दमदार मंत्री भी देंगें। मनोज विधायक बनने के बाद मंत्री भी बनेंगे, स्टार प्रचार के आश्वासन के बाद आम जनता ने मुहर लगाकर ऐतिहासिक जीत दिलाई। लेकिन आश्वासन के बाद भी मंत्रीमंडल में हमारे विधायक को स्थान नहीं दिया गया, जिससे हम नाराज हैं और क्षेत्र की भी। जिसके कारण बैठक लेकर निर्णय लिया हैं, कि सभी कांग्रेसी अपने पद से जिला और प्रदेश कांग्रेस कमेटी को इस्तीफा देंगे और लोकसभा चुनाव में कार्य नहीं करेंगे। बैठक में लैम्पस अध्यक्ष छेरकूराम तुलावी, सरपंच रघुनाथ मंडावी, ईश्वर बघेल, रूपसिंह कोमरा, नरसूराम हिडक़ो उपस्थित थे।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned