पत्रकार से मारपीट का मामला: कांग्रेस ने जिला महामंत्री को हटाया, तीन विधायकों की बनी जांच टीम

- जांच समिति आज कांकेर जाकर दो दिनों में पार्टी आलाकमान को देगी रिपोर्ट .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 30 Sep 2020, 02:12 AM IST

कांकेर . पत्रकार से मारपीट मामले में कांकेर जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुभद्रा सलाम ने जिला कांग्रेस महामंत्री अब्दुल गफ्फार मेमन को पद और सदस्यता से निलंबित कर दिया है। इस संबंध में जिलाध्यक्ष सलाम ने बताया कि पत्रकारों से मारपीट, गाली-गलौज किए जाने का वीडियो फुटेज पार्टी संगठन को प्राप्त हुआ था। बहुत ही आपत्तिजनक और अश्लील गालियों का प्रयोग करते हुए पत्रकार से मारपीट की घटना में मेमन की संलिप्तता प्रदर्शित हो रही है। यह अत्यंत ही आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी की नीति और सिद्धांतों के विरुद्ध है।

इस घटना से पार्टी की छवि धूमिल हुई है। इस वजह से अब्दुल गफ्फार मेमन को जिला महामंत्री पद से निलंबित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम से प्रदेश स्तरीय जांच समिति गठित करने की मांग की थी। इस पर चार सदस्यीय जांच समिति गठित कर दी गई है। इस समिति में जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन, रायपुर विधायक विकास उपाध्याय, गुंडरदेही विधायक कुंवर सिंह निषाद और प्रभारी महामंत्री रवि घोष हैं।

प्रदेश संगठन ने बनाई चार सदस्यीय समिति

कांकेर की घटना को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने चार सदस्यीय जांच समिति बनाई है। प्रदेश महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला के हवाले से जारी आदेश में कहा गया है कि चारों सदस्य तत्काल कांकेर जाकर पीडि़़त पत्रकारों और प्रत्यक्षदर्शियों से मिलकर वस्तुस्थिति की जानकारी लें और दो दिन के अंदर संगठन को रिपोर्ट दें।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned