9 साल के बच्ची पर तेंदुए ने किया हमला, साहसी पिता ने ऐसे बचाई बेटी की जान

गांव से दूर जंगल की ओर अपनी खेत में फसल की रखवाली करने गए माता-पिता के साथ एक 9 वर्षीय मासूम बच्ची पर अचानक एक तेंदुए ने हमला कर दिया।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 16 Apr 2020, 10:39 AM IST

कांकेर. छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के नहरपुर वन मंडल क्षेत्र के इमलीपारा जामगांव में दोपहर 3 बजे गांव से दूर जंगल की ओर अपनी खेत में फसल की रखवाली करने गए माता-पिता के साथ एक 9 वर्षीय मासूम बच्ची पर अचानक एक तेंदुए ने हमला कर दिया। हमले में गंभीर रूप से घायल बच्ची को प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

जानकारी अनुसार ग्राम इमलीपारा जामगांव निवासी सोनसिंह कोमरे ने बताएं कि गांव से करीब 500 मीटर दूर जंगल की ओर उन लोगों का खेत है। जिसमें उन लोगों को धान का फसल लगाया हुआ है। जहां पर वह अपनी पत्नी के साथ खेत की रखवाली करने पर दिन जाता है। 15 अप्रैल को यह सुबह खेत की रखवाली करने के लिए गया था। जहां पर दोपहर के बाद उसकी बेटी खुशबू अपनी मां के साथ उसके लिए खाना लेकर खेत की ओर आई थी। दोपहर करीब 3 बजे नहाने गया तो उसकी बेटी भी नहाने के लिए बोर में आई।

बेटी को नहलाकर लाडी की ओर भेज दिया। अचानक जंगल की ओर से एक तेंदुआ आ गया और उसकी बेटी पर हमला कर दिया। हमले से बेटी दहशत में आ गई और चिल्लाने लगी। तभी तेंदुआ को हमला करते हुए देख पास में पड़े डंडा लेकर तेंदुआ की और चिल्लाते हुए लपका तो तेंदुआ बच्ची को छोड़ कर जंगल की ओर भाग गया।

हमला के बाद कुछ ग्रामीणों ने खून से लथपथ बच्ची को उठाकर घर गए और वन विभाग को सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची वन विभाग को तुरंत अस्पताल पहुंचाया जहां प्राथमिक उपचार बच्ची को जिला अस्पताल रेफर किया। घटना के बाद एक बार फिर जंगली जानवरों से दहशत बढ़ गई है।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned