पिंजरे में कैद हुआ आदमखोर तेंदुआ, 2 लोगों को बना चुका था शिकार, लोगों ने राहत की सांस ली

Leopard caught in Kanker: छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के पलेवा-भैसाकट्टा इलाके के ग्रामीणों ने उस वक्त राहत की सांस ली, जब आदमखोर तेंदुआ वन विभाग के पिंजरे में कैद हो गया। महीने भर के अंदर इस तेंदुए ने दो लोगों की जान ले ली थी।

By: Ashish Gupta

Published: 12 Sep 2021, 11:57 AM IST

कांकेर. Leopard caught in Kanker: छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के पलेवा-भैसाकट्टा इलाके के ग्रामीणों ने उस वक्त राहत की सांस ली, जब आदमखोर तेंदुआ वन विभाग के पिंजरे में कैद हो गया। महीने भर के अंदर इस तेंदुए ने दो लोगों की जान ले ली थी। जिसके बाद वन विभाग ने तेंदुए को पकड़ने के लिए दो गांवों में पिंजरा लगाया था।

पिछले कुछ महीनों से इस तेंदुए ने लोगों की नींद उड़ा रखी थी। पलेवा और भैसाकट्टा में तेंदुए ने दो लोगों को मार डाला था। जिसमें एक 70 साल का बुजुर्ग था और दूसरी 40 साल की महिला। सोते हुए बुजुर्ग को घर से उठाकर तेंदुआ ले गया था। तेंदुए के आदमखोर होने से लोगों में भारी दहशत का माहौल था। जिसको देखते हुए वन अमले में तेंदुए को पकड़ने अलग-अलग इलाकों में पिंजरा लगाया था।

4 दिन के इंतजार के बाद आखिरकार तेंदुआ पिंजरे में कैद हो गया। वन विभाग के लिए राहत की बात ये है कि एक ही रात में दो तेंदुए जब पिंजरे में कैद हो गए है। वन विभाग दोनों तेंदुओ को नंदनवन रायपुर ले जाने की तैयारी में है। पहली बार हुए हमले के बाद से ही ग्रामीण और वन विभाग की टीम इस तेंदुए की तलाश में जुटे हुए थे।

यह भी पढ़ें: शराब के नशे में करैत सांप को चबाकर खा गए दो शख्स, वजह जानकर हर कोई रह गया हैरान, जानें फिर क्या हुआ

यह भी पढ़ें: आदमखोर तेंदुए ने किया महिला का शिकार, रात में घसीटकर ले गया, शरीर का आधा हिस्सा देख सहमे परिजन

यह भी पढ़ें: गर्दन तक जमीन में दबी थी महिला, लोग पहुंचे तो शर्म से ढंक लिया चेहरा, फिर हुआ ये...

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned