फेथाई के असर से हुई बारिश से किसानों को नुकसान, खेतों में तैयार फसल चौपट, केंद्रों में भीगा करोड़ों का धान

खेत-खलिहान में धान भींग गए तो वहीं खरीदी केंद्रों में फटे तिरपाल के नीचे पानी से हजारों क्विंटल धान खराब हो गया।

By: Deepak Sahu

Published: 18 Dec 2018, 12:47 PM IST

कांकेर. चक्रवाती फेथाई तूफान का असर दो दिनों से छत्तीसगढ़ में दिख रहा है। शनिवार शाम को बूंदाबांदी और रविवार देर रात बारिश से आमजन अस्त-व्यस्त हो गया है। कडक़ड़ाती ठंड ने लोगों की कपकपी बढ़ा दी है। ठंड के कारण लोगों के घरों में अलाव जलने शुरू हो गए है। इस साल सोमवार को तापमान सबसे नीचे पहुंच गया। स्वेटर, शॉल और गर्म कपड़ों में सभी लोग लिपटे नजर आ रहे हैं।

इस बे मौसम बारिश ने किसानों को नुकसान पहुंचाया है। जहां खेत-खलिहान में धान भींग गए तो वहीं खरीदी केंद्रों में फटे तिरपाल के नीचे पानी से हजारों क्विंटल धान खराब हो गया। किसानों के खेत में तैयार सब्जियों में टमाटर एवं अन्य फसल पानी के कारण खराब हो गईं। किसानों को सब्जी फसल में नुकसान हुआ है। किसानों को चिंता सता रही कि आखिर खेतों में तैयार फसल कहां बेंचे। इस बारिश से चना, गेहूं एवं अन्य फसल को लाभ मिला है। वहीं, अरहर फसल में कीट का प्रकोप बढऩे की आशंका है।

बारिश ने मेहनत पर फेरा पानी
रविवार की रात से हो रही बारिश से आमजन के साथ किसान परेशान है। बेवरती निवासी किसान मनेसिंह कावड़े ने बताया कि खेत में टमाटर की फसल तैयार थी। सोमवार की बारिश से टमाटर के खेत में पानी भर गया। पानी पडऩे से टमाटर खराब हो गया। चारामा निवासी किसान देवराम साहू ने बताया कि क्षेत्र में बड़ी संख्या में किसान सब्जी की खेती कर रहे हैं। अधिकांश किसानों के खेतों में सब्जी की फैसल तैयार थी। इस बारिश से सब्जी फसल को नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि अरहर की फसल में इस बारिश में कीड़े लगेंगे, चना, गेंहू, दलहल और तिलहन की फसल को लाभ मिलेगा। पुसवाड़ा के किसानों ने बताया कि इस गांव में सबसे अधिक सब्जी की खेती सभी लोग करते हैं।

सब्जी की खेती में इस मौसम में पानी पडऩे से बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है। टमाटर और गोभी की फसल को सबसे अधिक नुकसान है। उधर पखांजूर क्षेत्र में किसान सब्जी की खेती बड़े पैमाने पर करते हैं। बारिश के चलते फसल खराब होने की सूचना मिल रही है। कृषि विभाग के उप संचालक चिरंजीव सरकार ने कहा कि इस बारिश से किसानों को सबसे अधिक फायदा होगा। दलहन-तिलहन एवं अन्य फसल को इस बारिश से फायदा है। रही बात सब्जी की तो कुछ फफूंद बढ़ सकते है।

 

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned