शुद्ध जल के लिए अब अंशदान राशि जमा करना होगा अनिवार्य

जल जीवन मिशन योजना के तहत हर घर को शुद्ध पानी देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की मॉनिटरिंग में लक्ष्य पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 26 Aug 2020, 10:00 PM IST

कांकेर. जल जीवन मिशन योजना के तहत हर घर को शुद्ध पानी देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की मॉनिटरिंग में लक्ष्य पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपी है। सितंबर 2023 तक हर घर को शुद्ध पानी पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के तहत शुद्ध जल लेने के लिए सामान्य क्षेत्र के उपभोक्ताओं से 10 प्रतिशत और अन्य क्षेत्र के लोगों से पांच प्रतिशत अंशदान की राशि सरकार के खजाने में जमा करनी पड़ेगी।

लोक स्वास्थ्य पत्रिका विभाग के अनुसार जल जीवन मिशन योजना में सामान्य क्षेत्र में 45 प्रतिशत केंद्र और 45 प्रतिशत राज्य का बजट रहेगा। शेष 10 प्रतिशत उपभोक्ताओं को अंशदान के तौर पर जमा करना पड़ेगा। अन्य क्षेत्र के लिए 47.50 प्रतिशत केंद्र और 47.50 प्रतिशत राज्य सरकार बहन करेगी। शेष 5 प्रतिशत की राशि ट्रायवल क्षेत्र के उपभोक्ताओं को जमा करना होगा।

सितंबर 2023 तह हर घर तक शुद्ध जल पहुंचाने का लक्ष्य है। विद्युत विहीन क्षेत्रों में सौर संचालित पम्पों के माध्यम से हर घर को पानी देने का लक्ष्य है। पहाड़ या दुर्गम क्षेत्र में पांच घर बसाहट तक इस योजना के तहत जल पहुंचाने का दावा विभाग की ओर से किया जा रहा है। जल जीवन मिशन योजना में ग्रुप वाटर आपूर्ति के माध्यम से लोगों को पानी दिया जाएगा। जल संकट से हो रही परेशानियों को देखते केंद्र और राज्य शासन की पहल पर धरातल पर यह योजना संचालित हो रही है।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned