मुखबिरी के आरोप में नक्सलियों ने ग्रामीण की कर दी हत्या, सेना भर्ती में युवकों शामिल नहीं होने की दी चेतावनी

मुखबिरी के आरोप में नक्सलियों ने ग्रामीण की कर दी हत्या, सेना भर्ती में युवकों शामिल नहीं होने की दी चेतावनी

Deepak Sahu | Updated: 10 Jan 2019, 11:52:22 AM (IST) Kanker, Kanker, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ के अंतागढ़ थाना क्षेत्र में बीती रात एक ग्रामीण की पुलिस के मुखबिरी के आरोप में माओवादियों ने गला घोंट कर हत्या कर दी।

कांकेर. छत्तीसगढ़ के अंतागढ़ थाना क्षेत्र में बीती रात एक ग्रामीण की पुलिस के मुखबिरी के आरोप में माओवादियों ने गला घोंट कर हत्या कर दी। हत्या के बाद शव पर पाम्पलेट रख रायपुर में सेना की भर्ती में शामिल नहीं होने युवाओं को चेतावनी दी है। पास में माओवादियों ने बैनर लगाकर दिया है। इस हत्या के बाद क्षेत्र मे दहशत बढ़ गई है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुरेश कुमार हुपेंडी (42) हिरनपाल का मूल निवासी है। वह बीती रात लमसेना गांव अपनी ससुराल मंगतु राम नुरेटी के घर आया था। वह अपनी ससुराल में परिवार के साथ शो रहा था। रात में करीब 30-35 की संख्या में माओवादी लमसेना गांव में पहुंच गए। मंगतुराम के घर को चारों तरफ से माओवादियों ने घेरकर सुरेश कुमार को पकडक़र बाहर ले आए। गांव से कुछ ही दूरी पर जन अदालत लगाकर ग्रामीण को पुलिस का मुखबिर बताते हुए जमकर पारपीट की और कुछ दूर पकड़ कर ले गए। जहां उसकी गला घोंट कर हत्या कर दी। ग्रामीणों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर मुखबिरी करने की कोशिश किया तो उसकी भी हत्या कर दी जाएगी।

ग्रामीण की हत्या के बाद माओवादियों ने शव पर एक पाम्पलेट रख छोटे ईंट से दबा दिया और पास में एक पाम्पलेट रख दिया। पाम्पलेट में लिखा था कि पुलिस को जो मुखबिरी करेगा उसी के खिलाफ ऐसा ही व्यवहार किया जाएगा। ग्रामीण की हत्या के बाद माओवादियों ने पास में ही एक बैनर लगा दिया। जिस पर लिखा था कि मुखबिर नहीं बनना चाहिए। अपनी अंगुली से अपनी ही आंखें फोड़वाने की सरकारी साजिश को विफल करो। सरकारी सशस्त्र बल पुलिस, अर्ध सैनिक बलों और सेना में भर्ती न होवें। इज्जत से नौकरी देने की मांग करो। नौकरी मिलने तक सभी बेरोजगारों को न्यूनतम वेतन के बराबर का बेरोजगारी का भत्ता दिया जाए। बैनर में इस घटना की जिम्मेदारी किसकोड़ो एरिया कमेटी ने ली है। इस घटना के बाद से क्षेत्र में और दहशत बढ़ गई है। पुलिस बल माओगतिविधियों को देखते हुए सर्चिंग अभियान तेज कर दिया है।

31 दिसंबर की रात भी कर दी थी ग्रामीण की हत्या
एक सप्ताह पहले ताड़ोकी थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत मलमेटा में रामाधार शोरी (30) की माओवादी ने हत्या कर दी थी। माओवादियों ने घर में सो रहे रामाधार को खींचकर बाहर लाए मौत के घाट उतार दिया। रामाधार के सिर में माओवादियों ने टंगिया से कई बार वार किया था। शोरी को भी माओवादियों ने पुलिस के मुखबिरी के आरोप में हत्या कर दी थी।

सेना की भर्ती रैली में शामिल नहीं होने दी युवाओं चेतावनी
दूसरे बैनर में माओवादियों ने जनवरी और फरवरी माह में रायपुर में होने वाली थल सेना भर्र्ती गलत है। शोसक शासक वर्गों की गुलामी मत करोञ जन आंदोलन को तेज करके जल जंगल जमीन को बचाओ आदि बात लिखी गई है। माओवादियों द्वारा ससुराल आने वाले ग्रामीण की हत्या कर देने से दहशत का आलम बढ़ गया है। ग्रामीणों ने बताया कि माओवादी अपनी दहशत बनाए रखने के लिए इस तरह की लोगों की जान ले रहे हैं।

अंतागढ़ के एसडीओ पुपलेश कुमार ने बताया कि अंतागढ़ थाना क्षेत्र ग्राम लमसेना में बीती रात माओवादियों ने एक युवक की गला दबाकर कर दी है। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है। शव को बरामद कर दिया गया। क्षेत्र में सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned