सागौन लकड़ी तस्करी मामले में जांच टीम ने दो फर्नीचर मार्ट में जड़ा ताला

सागौन लकड़ी तस्करी मामले में जांच टीम ने दो फर्नीचर मार्ट में जड़ा ताला

Deepak Sahu | Publish: Dec, 08 2018 09:00:00 PM (IST) Kanker, Kanker, Chhattisgarh, India

सागौन के विशाल पेड़ों को काट कर तस्करी का मामल उजागर होने पर वन विभाग के आला अफसर हरकत में आ गए।

कांकेर. वनमंडल भानप्रतापपुर पूर्व रेंज के दुर्गूकोंदल ब्लॉक में फॉरेस्ट कक्ष क्रमांक 640 एवं 436 पलाचुर में सागौन के विशाल पेड़ों को काट कर तस्करी का मामल उजागर होने पर वन विभाग के आला अफसर हरकत में आ गए। पत्रिका में प्रमुखता से प्रकाशित खबर को संज्ञान में लेते हुए सीसीएफ के आदेश पर जांच टीम का गठन कर दिया गया था। जांच टीम ने शुक्रवार को दुर्गूकोंदल बाजार में संचालित दो फर्नीचर मार्ट में ताला जड़ दिया। इन फर्नीचर मार्ट में बिजली संचालित आरा मशीन पकड़ा गया है। वन विभाग की इस कार्रवाई से फर्नीचर मार्ट संचालकों खलबली मची है।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दोनों कक्ष क्रमांक में काटे गए पेड़ों के ठूठों की गणना की जा रही है। सीसीएफ के आदेश पर गठित टीम में डिप्टी रेंजर, रेंजर, एसडीओ और डीएफओ समेत अन्य कर्मचारियों को जांच के लिए अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है। गुरुवार को जांच टीम ने जंगल में काटे गए पेड़ों के ठूठों का सत्यापन किया। जांच टीम ने शुक्रवार को दुर्गूकोंदन में संचालित जैन फर्नीचर मार्ट और यूके फर्नीचर मार्ट पर एक साथ छापेमारी की है। दोनों ही मार्ट में बड़ी मात्रा में लकड़ी मिली है। दोनों मार्ट में बिजली संचालित दो आरा मशीन संचालित हो रही थी। इन मशीनों की अनुमति भी नहीं थी।

लकड़ी के स्टाक व विक्रय रजिस्टर को जब्त किया गया है। वन विभाग की टीम ने बताया कि दोनों मार्ट में मशीन अवैध है। वन विभाग की इस कार्रवाई के बाद फर्नीचर मार्ट में खलबली है। इसी तरह भानुप्रतापपुर में भी बिजली संचालिक आरा मशीनों का उपयोग किया जा रहा है। दुर्गूकोंदल में कार्रवाई होते ही अन्य मार्टों से मशीनों को दुकानदार हटा दिए हैं। दुर्गूकोंदल निवासी अनिल कुमार सिन्हा ने कलक्टर से लिखित शिकायत भी की थी। भानुप्रतापपुर पूर्व डीएफओ रमेश दुग्गा ने बताया कि अभी जांच की जा रही है। जंगल में सागौन के काटे गए ठूठों की गणना हो रही है। अभी दो फर्नीचर मार्ट को सील किया गया है। कुछ लकड़ी और मशीन वहां मिली है। जांच के बाद अगर मार्ट में अवैध लकड़ी को पाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अनुविभागीय अधिकारी के छापेमारी पर भडक़े ग्रामीण
जंगल के दो कक्ष क्रमांक से करोड़ों की लकड़ी तस्करी का मामला उजागर होते ही गुरुवार को भानुप्रतापपुर अनुविभागीय अधिकारी ने क्षेत्र में गरीबों के घरों में लकड़ी की तलाशी लेने लगीं। बंद घरों का ताला तोडऩे से ग्रामीण भडक़ गए। अनुविभागीय अधिकारी ने गरीबों के घर में लगे खिडक़ी दरवाजों का जप्ती नाम बनाने का फरमान जारी कर दिया तो ग्रामीण खफा हो गए और पीसीसीएफ का घेराव किए। ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए वह चुपके से रायपुर रवाना हो गए।

फर्नीचर मार्ट हो बंद
दुर्गूकोंदल में फर्नीचर मार्ट खुलने के बाद से सागौन की अवैध कटाई हो रही है। फर्नीचर मार्ट के संचालक खुद लोगों को लालच देकर सागौन पेड़ों को कटाई करा रहे हैं। इसीलिए क्षेत्र में फर्नीचर मार्ट फल-फूल रहा है। उक्त बातें जिला यूनियन वनोपज पूर्व वनमंडल अध्यक्ष आयनुराम ध्रुव ने कही। ध्रुव ने कहा कि दुर्गूकोंदल में संबलपुर के लोगों को वन विभाग द्वारा फर्नीचर का लाइसेंस दिए जाने के बाद से सागौन की अवैध कटाई हो रही है। वन माफिया लकड़ी को दुर्गूकोंदल के फर्नीचर मार्ट में खपा रहे हैं। ध्रुव ने कहा कि फर्नीचर मार्ट बंद होने से सागौन की अवैध कटाई में रोक लगेगी। दुर्गूकोंदल के फर्नीचर मार्ट को बंद किया जाए।

कुछ दिन पहले वन विभाग के कर्मचारियों ने फर्नीचर मार्ट के खिलाफ शिकायत की थी। फर्नीचर मार्ट के संचालक वनकर्मी को ही फंसाने में तुले हैं। वन विभाग के एसडीओ ने डीएफओ से मांग किया है कि दुर्गूकोंदल में फर्नीचर मार्ट पूर्णत: बंद किया जाए। तभी अवैध सागौन की कटाई रुकेगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned