बड़ी खबर : अखिलेश के इस खास नेता के मर्डर से मचा हड़कंप, पोस्टमार्टम में सामने आया ये राज

बड़ी खबर : अखिलेश के इस खास नेता के मर्डर से मचा हड़कंप, पोस्टमार्टम में सामने आया ये राज

Ruchi Sharma | Publish: Nov, 14 2017 01:46:17 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बड़ी खबर : अखिलेश के इस खास नेता के मर्डर से मचा हड़कंप, पोस्टमार्टम में सामने आया ये राज

कन्नौज. समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व नगर अध्यक्ष अरुण यादव का संदिग्ध परिस्थितियों में जहरीला पदार्थ निगल लेने की बात सामने आयी थी। जिसके बाद इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के दौरान उनकी मौत हो गई थी। वहीं, परिजनों ने पार्टी के कार्यकर्ताओं पर ही आत्महत्या के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। जिसके बाद पुलिस ने तहरीर के आधार पर दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर किसी पहलू पर पहुंचने की बात कह रही है।

रास्ते में हुई मौत

कन्नौज के कस्वा गुरसहायगंज क्षेत्र के मोहल्ला सुभाष नगर निवासी समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व नगर अध्यक्ष अरुण कुमार यादव पुत्र सुरेश चंद्र यादव की शनिवार शाम करीब चार बजे उनकी अचानक तबीयत बिगड़ गई। परिजनों व मित्रों ने युवा सपा नेता को आनन-फानन नगर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने फर्रुखाबाद के लिए रेफर कर दिया। परिजन उसको लेकर खुदागंज के आगे पहुंचे तो पता चला कि कमालगंज में जुलूस निकलने के कारण जाम लगा है। इस पर परिजनों ने वापस सरायप्रयाग स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां अरुण को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। अरुण के एक पुत्र अंश व एक पुत्री अंशिका हैं।

पार्टी वर्करों पर लगा आरोप

परिवार के सदस्यों की माने तो नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान सपा के घोषित प्रत्याशी इन्द्र कुमार गुप्ता के कार्यालय में पहले की रंजिश को लेकर धीरज गुप्ता ने मारपीट की और पुलिस को सूचना देकर कोतवाली में अरुण को बंद करवा दिया।

'अरुण को मिलती थी धमकी'

अरुण की पत्नी पूजा यादव ने कहा, राजीव यादव और इंद्र कुमार गुप्ता ने ही अरुण को पुलिस से छुड़वाया। लेकिन, इस घटना के बाद से अरुण ने चुनाव में सहयोग न करने का फैसला किया। इसके बाद अरुण को फोन पर अज्ञात लोगों से धमकी मिलने लगी।

पुलिस पर भी लगे आरोप

वहीं, परिजनों ने पुलिस पर उचित कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है। कोतवाल महेंद्र पाल सिंह गौतम ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। मामले में नामदर्ज अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी की जाएगी।

Ad Block is Banned