मानवता शर्मसार: कैंसर पीडि़त अध्यापक को किया बर्खास्त, बैठे धरने पर

Ashish Pandey

Publish: Oct, 12 2017 09:57:46 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मानवता शर्मसार: कैंसर पीडि़त अध्यापक को किया बर्खास्त, बैठे धरने पर

शिक्षक के समर्थन में आए छात्रों के बैग जब्त कर विद्यालय में घुसने से मना कर दिया गया है।

 

कन्नौज. जिले के एक प्राइवेट कालेज में मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। कन्नौज के कन्हैया लाल सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कालेज के मैनेजमेन्ट ने कैंसर से पीडि़त एक शिक्षक को कालेज से निकाल दिया। शिक्षक लगभग सोलह वर्षों से इस संस्था में अपनी सेवाएं दे रहा था।

कन्हैया लाल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज के प्रबंधक पर ह बर्खास्तगी का आरोप लगा कैंसर पीडि़त शिक्षक पत्नी व बेटे के साथ धरने पर बैठ गए। विद्यालय परिसर के बाहर अनिश्चितकालीन धरने पर नारेबाजी हुई। शिक्षक के समर्थन में आए छात्रों के बैग जब्त कर विद्यालय में घुसने से मना कर दिया गया है। इससे नाराजगी दिखी। शिक्षक अरविन्द यादव ने बताया कि 2006 से वह विद्यालय में पढ़ा रहे हैं। प्रबंधक डा. आरआर गुप्ता ने अनुशासनहीनता का आरोप लगा 27 मई को बर्खास्त कर दिया था। वह एक साल से कैंसर से पीडि़त हैं। छह महीने से मुंबई में भर्ती थे। अब जब वह विद्यालय पहुंचे तो बर्खास्तगी का हवाला देकर घुसने नहीं दिया गया। प्रबंधक को उनकी सेवा समाप्त करने का अधिकार नहीं है।

धरने में समर्थन में आए छात्रों के बैग रखवा लिए गए। शिक्षक अरविन्द यादव की मानें तो कालेज प्रशासन से नौकरी पर रखने के लिए कई बार वह मिन्नत कर चुका है, लेकिन संवेदनहीन प्रबन्धन के कान में जूं तक नही रेंग रही है। परेशान शिक्षक कालेज के बाहर पूरे परिवार के साथ धरने पर बैठ गया है। कालेज के प्रबन्धक डा. आरआर गुप्ता से जब इस मामले पर पूछा गया तो उन्होंने शिक्षक द्वारा लगाए गए आरोपों से इन्कार कर दिया। प्रबन्धक ने बताया कि शिक्षक अरविन्द यादव को अनुशासनहीनता के आरोप में कालेज से मई 2016 में निकाला गया था। तब इनको कैंसर की बीमारी नहीं थी। छात्रों ने कैंसर पीडि़त शिक्षक के साथ धरने पर बैठकर नारेबाजी की। कैंसर पीडि़त शिक्षक अरविन्द यादव ने पत्नी व बच्चों समेत विद्यालय परिसर के बाहर अपनी मांग को लेकर धरना दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned