अब कन्नौज में मिले 19 फर्जी शिक्षक, FIR के साथ रिवकवरी की कवायद शुरू

- कन्नौज में एसआईटी और जिला कमेटी की जांच में सामने आये 19 फर्जी शिक्षक
- बर्खास्तगी के साथ वेतन रिकवरी और मुकदमा दर्ज की कार्रवाई का आदेश

By: Hariom Dwivedi

Updated: 01 Jul 2020, 01:44 PM IST

कन्नौज. फर्जी शिक्षक मामले में एक और बड़ा खुलासा सामने आया है। एसआईटी और जिला कमेटी की जांच में फर्जी अभिलेख पर 19 शिक्षक नौकरी करते हुए पाए गए। एसआईटी की जांच में 13 और जिला कमेटी की जांच में 6 फर्जी शिक्षक सामने आये। बर्खास्तगी के साथ इनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश दिये गये हैं। साथ ही रिकवरी की कवायद भी शुरू हो गई है। सम्बंधित थाना और कोतवाली में तहरीर भी दे दी गई है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी केके ओझा ने बताया कि एसआइटी और जिला कमेटी से शिक्षकों की जांच कराई गई थी। इसमें एसआईटी की जांच में पाए गए 13 शिक्षक पहले ही बर्खास्त कर दिए गए थे, लेकिन वह हाईकोर्ट से स्थगनादेश ले आए थे, इसलिए कार्रवाई की प्रक्रिया रुक गई था। अब स्टे खत्म हो गया है तो सख्ती कर दी गई है। एसआईटी की जांच में जो 13 शिक्षक बर्खास्त हुए हैं, उसमें आठ छिबरामऊ और उमर्दा, कन्नौज, सौरिख, तालग्राम और हसेरन ब्लॉक क्षेत्र का एक-एक टीचर शामिल हैं। वहीं, जिला कमेटी की जांच में 6 ऐसे शिक्षक पाए गए थे जिनके अभिलेख त्रुटि पूर्ण पाए गए थे जिसके बाद इनको बर्खास्त किया गया। इसके साथ ही इनकी वेतन रिकवरी के आदेश के साथ ही मुकदमा दर्ज कराने के आदेश भी दिए गए। इन शिक्षकों में तीन छिबरामऊ, दो तालग्राम और एक गुगरापुर ब्लॉक का शामिल है। सभी सहायक अध्यापक हैं।


यह भी पढ़ें : यूपी में एक और फर्जी शिक्षिका गिरफ्तार, 2019 से शिक्षा विभाग की आंख में धूल झोंक कर रही थी नौकरी

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned