शादी से पहले घर से भागी बिटिया को रास्ते में मार डाला, प्रेमी की जिंदगी खतरे में

शादी से पहले घर से भागी बिटिया को रास्ते में मार डाला, प्रेमी की जिंदगी खतरे में
Honour Killing

Alok Pandey | Updated: 13 Jun 2017, 03:29:00 PM (IST) Kannauj, Uttar Pradesh, India

कन्नौज. एक ही हांव में रहने वाले जीतू और रेनू ने जिंदगी साथ-साथ गुजारने की कसम खाई थी। इसी दौरान रेनू का रिश्ता किसी दूसरे घर में पक्का कर दिया गया। अपनी मेहबूबा को दूसरे की दुल्हन बनते देखकर जीतू ने पुराने वादे याद दिलाए, मौत को गले लगाने की बात कही। इसके बाद दुल्हन बनने को तैयार रेनू ने घर से भागने का फैसला कर लिया। 13 जून को दोनों सूरज की पहली किरण निकलने से पहले अपनी नई जिंदगी के रास्ते पर चुपके-चुपके बढ़ निकले, लेकिन किसी को भनक लग गई थी। रास्ते में कुछ लोगों ने दोनों को घेर लिया। पहले जीतू को लाठी-डंडे से इस कदर बेरहमी से पीटा गया कि वह मरणासन्न हो गया। इसके बाद दुल्हन को खींचकर खेत में लेकर गए। इसके बाद..... चारों ओर खून ही खून था। दुल्हन की जिंदगी खत्म हो चुकी थी। हैवानियत करने वाला यह कोई और नहीं, बल्कि दुल्हन का पिता राजकुमार था, जिसने झूठी इज्जत की खातिर अपनी बेटी को मौत के घाट उतार दिया था।

कानपुर में तय हुई थी रेनू की शादी, 28 को आनी थी बारात
 
कन्नौज के तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बिनौरा रामपुर के रहने वाले राकेश के 19 वर्षीय पुत्र जीतू को अपने ही गांव के रहने वाले राजकुमार की 22 वर्षीय पुत्री प्रतीक्षा उर्फ रेनू से प्यार था। दोनों ही एक दूसरे से बेइंतहा मोहब्बत करते थे। मोहब्बत की बात रेनू के परिजनों तक पहुंची तो झटपट उसकी शादी कानपुर के परिवार के साथ पक्की कर दी गी। 15 दिन बाद 28 जून को रेनू की बारात आने वाली थी।

जीतू के समझाने पर भागने को तैयार हुई प्रतीक्षा उर्फ रेनू

शादी की बात सुनकर जीतू परेशान हो गया। उसने एक शाम चुपके से रेनू को बाग में बुलाया और पुराने वादे याद दिलाते हुए घर से भागने का प्लान बनाया। तय प्लानिंग के मुताबिक 13 जून को सुबह 4 बजे दोनों ही अपने-अपने घर से निकल पड़े। अभी गांव की सरहद पार हुई थी कि कुछ लोगों ने दोनों को घेर लिया। घेरने वालों का चेहरा साफ नहीं था। मुंह से अंगाछा हटा तो देखा कि सामने रेनू का भाई वीरभान और पिता राजकुमार थे। दोनों ने साथियों के साथ मिलकर जीतू पर हमला बोल दिया। जीतू निढाल होकर गिर गया तो उसे मरा समझकर रेलू को खींचकर खेत में लेकर गए और गाल काटकर मारा डाला। 

जीतू को अस्पताल पहुंचाया तो ऑनर किलिंग सामने आई

रेनू की मौत से बौखलाये परिजनों ने शव को खेत में फेंककर लौट आए। लहूलुहान युवक की जानकारी पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जीतू को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। होश आने के बाद जीतू ने पूरी कहानी सुनाई। जिसके बाद पुलिस ने रेनू के परिजनों को गिरफ्तार कर लिया है। 




Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned