इत्र नगरी में धूमधाम से मनाया गया कृष्ण जन्मोत्सव, मनमोहक झांकियां देख लोग हुए मनमुग्ध

इत्र नगरी में धूमधाम से मनाया गया कृष्ण जन्मोत्सव, मनमोहक झांकियां देख लोग हुए मनमुग्ध

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 04 2018 01:07:36 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जिले भर में दोनों दिन श्रीकृष्ण जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया।

कन्नौज. जिले भर में दोनों दिन श्रीकृष्ण जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। यहां स्थापित मंदिरों में भव्य सजवाट की गई। देर रात तक मंदिरों में भजन कीर्तन का आयोजन चलता रहा। बारह बजते ही शंख घंटा घड़ियालों की धुनों से पूरा वातावरण कृष्णमय हो गया। श्रृद्धालुओं ने मंदिरों और घरों में राधा कृष्ण की आकर्षक झांकियां सजाईं। पूजा अर्चना के बाद देररात तक प्रसाद वितरण का कार्यक्रम चलता रहा। जन्मोत्सव को लेकर पूरा जनपद भक्तिरस से सराबोर हो गया। मंदिरों में भव्य झाकियों के साथ राधा कृष्ण का फूलों से श्रृंगार किया गया।

रविवार को भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की दिनभर धूम मची रही। इत्रनगरी के मंदिरों में रंग बिरंगी झालरों और पुष्पगुच्छों से की गई सजावट एक अलग छटा बिखेर रही थी। शाम होते ही मंदिरों में धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन शुरू हो गया था। शहर के मोहल्ला गदनपुर बडडू स्थित ठाकुरद्वारा में राधाकृष्ण का भव्य श्रंगाार कर प्रसाद का वितरण किया। यहां आचार्य ने भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं के अलावा माखन चोरी की कथा का वर्णन कर श्रद्धालुओं का मन मोह लिया। इसी प्रकार शहर के कचहरी टोला स्थित ठाकुरद्वारा, विशुनपुर टीला, होली मोहल्ला स्थित राधा कृष्ण मंदिर, हरदेगंज स्थित शिवाला सहित शहर के सभी मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण राधा की आर्कषक झांकियां सजाई गईं। जन्माष्टमी पर्व को लेकर सुबह से ही उत्साह का माहौल रहा। शहर में दिन भर धार्मिक कार्यक्रमों की धूम मची रही। साथ ही श्रद्धालुओं ने व्रत रखकर भगवान श्रीकृष्ण की आराधना की।

मंदिरों के साथ-साथ घरों में सजाई गई सुंदर-सुंदर भगवान कृष्ण की झांकियां

बच्चों ने घरों में सुदंर-सुदंर झाकिंया बनाकर परिजनो का मन मोहा। श्रद्धालुओं ने श्रीकृष्ण जन्म के बाद मंगल गीत गाकर प्रसाद वितरित किया। वहीं घरों और मंदिरों में महिलाओं ने ढोलक की थाप पर बधाई गीत गाकर कान्हा के जयकारे लगाए। सिद्धपीठ बाबा गौरी शंकर मंदिर रोड स्थित राधा कृष्ण मंदिर को खूब सजाया गया, रंगीन लाइटों से चमक रहे इस मंदिर में शाम से ही भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें सभी भक्त भक्ति रस से सराबोर होते दिखे। इत्रनगरी के अजयपाल मोहल्ला स्थित ठाकुरद्वारा में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को लेकर रौनक देखते ही बनी। यहां कांग्रेस कमेटी के जोनल प्रवक्ता एवं महासचिव उत्तर प्रदेष सोशल मीडिया के सदस्य विवेक नरायन मिश्र की ओर से राधा कृष्ण का भव्य श्रंगार कर पूरे ठाकुरद्वारा को रंगबिरंगी झालरों के साथ सजाया गया। मंदिर में श्रृद्धालुजनों ने ढोलक केी थाप पर भजन कीर्तन कर वातावरण को भक्तिमय कर दिया। रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण का पूजन अर्चन कर लोगों में प्रसाद वितरण किया गया।

खूब बिका दूध व दही की रही मांग, घरों में बनाए गए पकवान

कन्नौज में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पर्व को लेकर दूध की अधिक मांग रही। सुबह से ही डेरियों पर लोगों की लंबी लंबी कतारें लगने लगीं। जन्माष्टमी पर दूध और दही से पूजा अर्चना शुभ माना जाता है। दही और पंचमेवा से चरणामृत तैयार कर कान्हा को भोग लगाया जाता है, जिसके चलते दूध, दही की मांग ज्यादा रही। जन्माष्टमी पर बनने वाले पकवानों से घरों के आंगन महक उठे। सुबह से ही महिलाएं भगवान श्रीकृष्ण का भोग बनाने की तैयारियों में जुट गईं। सूखे मेवा और चीनी खोवे सेे मिश्रित कई प्रकार के मीठे व्यंजन तैयार किए गए।

खीरे के दाम चढ़े आसमान 50 रुपए तक हुई एक खीरे की कीमत

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को लेकर नार वाले खीरे के लिए मारामारी मची रही। रविवार को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाने के लिए खीरे की खरीदारी को लेकर लोगो में अधिक होड़ देखने को मिली। जिसके चलते खीरा बेचने वालों की चांदी रही। खीरा 30 से 50 रुपए तक बिका।

12 बजते ही गूंजे घंटे और घड़ियाल

रात के 12 बजते ही पूरी इत्रनगरी भक्तिरस की धारा मे सराबोर हो गई। हर कोई अपने मनमोहन की भक्ति का दिवाना हो गया। चहुंओर भय प्रकट कृपाला, नन्दलाला की आरती के साथ मंदिरों में घंटे घड़ियाल गूंज उठे। घरों में भी सनातनधर्मियों ने पूरी आस्था के साथ भगवान का जन्मोत्सव मनाया गया। घरों में आकर्षक झांकियां सजाई गईं थी। देर रात तक लोगों ने भजन-कीर्तन कर प्रसाद वितरित किया। श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर्व को लेकर बाजार में दिनभर अच्छी खासी भीड़ रही। रंग बिरंगी झालर, सजावटी सामानों के साथ नार वाले खीरे और मिठाई की लोगों ने जमकर खरीददारी की। बाजारों में खरीदादारों की दिन भर भारी भरकम भीड़ लगी रही। इससे देर रात तक बाजार गुलजार रहे। श्रीकृष्ण भगवान को भोग अर्पित करने के लिए घरों में महिलाएं सुबह से पकवान बनाने में लगी रहीं। बच्चों में जन्माष्टमी का उत्साह देखने को मिला।

Ad Block is Banned