जिला पंचायत अध्यक्ष व कन्नौज सदर ब्लाक प्रमुख की कुर्सी की लड़ाई में न जाने कौन पड़ेगा किस पर भारी

जिला पंचायत अध्यक्ष व कन्नौज सदर ब्लाक प्रमुख की कुर्सी की लड़ाई में न जाने कौन पड़ेगा किस पर भारी
Kannauj Sadar Block Chiefs news

Shatrudhan Gupta | Updated: 07 Oct 2017, 11:09:21 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

डाक्टर राम मनोहर लोहिया, मुलायम सिंह यादव, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, उनकी पत्नी की यह राजनीतिक कर्म भूमि है।

कन्नौज. कन्नौज एक लंबे अरसे से समाजवादी पार्टी का गढ़ मन जाता है। डाक्टर राम मनोहर लोहिया, मुलायम सिंह यादव , पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव , उनकी पत्नी की यह राजनीतिक कर्म भूमि है। यहां समाजवादी पार्टी को लेकर जो भी राजनीति होती है वो एक सोची समझी रणनीति के तहत होती है। भारतीय जनता पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष और सदर ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी पर सवाल उठाकर समाजवादी पार्टी को नए चैलेंज का उलाहना दिया है, इसलिए समाजवादी पार्टी में ज़बरदस्त राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गयी हैं।

जिला पंचायत अध्यक्ष व कन्नौज सदर ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी की रार अब सड़क पर आ चुकी है। इसी वजह से सपाई अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ लामबंद हो गए। भाजपाइयों के सौंपे गए हलफनामे वाले सदस्य लेकर जिलाधिकारी जगदीश प्रसाद से मिले। अविश्वास प्रस्ताव के विरोध में जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि संजू कटियार व ब्लाक प्रमुख नीलू यादव अपने सदस्यों के साथ जिलाधिकारी से मिले।

जिला पंचायत सदस्य ब्रजेश कुमार, महेंद्र सिंह दिवाकर व सुषमा ने शपथ पत्र में हस्ताक्षर फर्जी बताए। उनके अलावा बाकी सदस्यों ने जिला पंचायत अध्यक्ष का समर्थन किया। वहीं, सदर ब्लॉक प्रमुख नीलू यादव अपने 29 सदस्यों के साथ जिलाधिकारी से मिले। सभी ने भाजपाइयों के अविश्वास प्रस्ताव के शपथ पत्र फर्जी बताए। मौके पर सभी ने जिलाधिकारी के सामने नीलू के पक्ष में हस्ताक्षर किए।

कुर्सी की लड़ाई में आया नया मोड़

जिला पंचायत अध्यक्ष व कन्नौज सदर ब्लॉक प्रमुख के अविश्वास प्रस्ताव में भाजपा के कई बड़े नेता भी शामिल हैं। शासन से लेकर बड़े नेता तक पल-पल की जानकारी जुटा रहे हैं। अब खेल यह दिख रहा है कि सदस्य कहीं भाजपा के साथ दिख रहे हैं तो वही कुछ सदस्य सपा के पाले में दे रहे हैं । इससे कुर्सी की लड़ाई में नया मोड़ आ गया। कुछ सदस्य एक दूसरे के सामने आने से कतरा रहे हैं, जबकि कई ने जिला पंचायत अध्यक्ष शिल्पी कटियार व सदर ब्लॉक प्रमुख नीलू यादव का समर्थन किया। इससे राजनीति गलियारों में हलचल मच गई। इससे भाजपाइयों को झटका लग सकता है। यदि शासन व बड़े नेता साथ रहे तो काम बन सकता है।

अपने-अपने पाले में लाने की कोशिश हुई शुरू

सपा भाजपा में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर जंग छिड़ चुकी है। जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत सदस्यों को अपने अपने पाले में लाने की कोशिश की जा रही है। राजनीतिक सूत्रों के मुताबिक सदस्यों पर दबाव बनाना शुरू हो गया है। गुरुवार को कुछ सदस्यों ने इसकी शिकायत की।

कौन पड़ेगा किस पर भारी

कन्नौज की जिला पंचायत और ब्लॉक प्रमुखी की कुर्सी पर अखिलेश यादव ने अपने चहेतों को कब्जा दिलवाया था। योगी सरकार बनने के बाद कयास लगने लगे थे कि अखिलेश यादव की प्रतिष्ठा वाली दोनों कुर्सियां अब छिन जाएंगी। इसके लिए भाजपा नेताओं ने कई बार कोशिश भी की, लेकिन कट्टर सपा नेताओं की ज्यादा संख्या से जिला पंचायत अध्यक्ष् और सदर ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी हथियाने के भाजपा के मन्सूबे पर पानी फिरता रहा है। इस बार भाजपा पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरी है तो सपाइयों ने भी सदस्यों को घेरना शुरू कर दिया है अब देखना यह होगा की सदस्य किसके पाले में कुर्सी खिसका के ले जाते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned