सांप मारने को लेकर दो गांव में जमकर हुआ खूनी संघर्ष

चले धारदार हथियार और लाठी-डंडे
तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू

By: Mahendra Pratap

Published: 22 Jun 2020, 06:42 PM IST

कन्नौज. उत्तर प्रदेश की इत्र नगरी में एक ऐसा विवाद हुआ कि ताज्जुब करेंगे। कन्नौज में सांप मारने का विरोध करने पर दो गांव के बीच विवाद हो गया। उसके बाद दोनों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ, जिसमे 7 लोग गंभीर रूप से हो गए। पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने दोनों पक्षों से मिली तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कन्नौज जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र में सोमवार शाम पांच बजे गांव बरूआ बाग के पास एक खेत में नाग और नागिन का जोड़ा घूम रहा था। करीब एक घंटे तक वहां जानवर चरा रहे लोग नाग-नागिन को देखते रहे। इसी बीच पड़ोसी गांव नारघाटी के कुछ युवक पहुंच गए और सांप के जोड़ों को मारने लगे। इस पर बरूआ बाग के लोगों ने विरोध किया और गाली-गलौज कर मौके से भगा दिया। इसके थोड़ी ही देर बाद चरवाह जानवर लेकर गांव चले गए।

तभी सांपों को मारने का प्रयास करने वाले युवकों के साथ करीब आधा सैकड़ा लोगों के साथ धारदार हथियारों से लैस होकर बरूआ बाग में घुस गए। गाली-गलौज करते हुए गांव के लोगों पर हमला कर दिया जिसमे कई लोग घायल हो गए जिसमे करीब 7 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

घटना के बाद से गांव में दहशत फैल गई और लोगों ने घरों में छिपकर जान बचाई। मामले की जानकारी मिलते ही सदर कोतवाल नागेंद्र कुमार पाठक ने पुलिस बल के साथ बरूआ बाग गांव पहुंच गए। पुलिस को देखते हुए नारघाटी के लोग भाग निकले। पुलिस ने सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। मामले में पुलिस ने बताया कि सांपों को मारने विरोध करने पर आपस में भीड़ गए । जिसमे करीब 7 लोगों को छोटे आई हैं। और छह लोगों को हिरासत में लिया।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned