कन्नौज एसपी की बड़ी कार्रवाई, अवैध शराब मामले में चौकी इंचार्ज सहित सात को किया निलंबित

कन्नौज एसपी की बड़ी कार्रवाई, अवैध शराब मामले में चौकी इंचार्ज सहित सात को किया निलंबित
Kannauj Police

Shatrudhan Gupta | Updated: 10 Oct 2017, 07:55:13 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

कन्नौज पुलिस अधीक्षक हरीश चंद्र ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक पुलिस चौकी को ही सस्पेंड कर दिया।

कन्नौज. कन्नौज पुलिस अधीक्षक हरीश चंद्र ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक पुलिस चौकी को ही सस्पेंड कर दिया। जानकारी के मुताबिक अवैध शराब के कारोबार पर शिथिलता बरतने के मामले में चौकी क्षेत्र में पूर्ण नियंत्रण न होने व अवैध शराब मामले में प्रभावी कार्रवाई न करने पर छिबरामऊ कोतवाली की सिकंदरपुर पुलिस चौकी के इंचार्ज, एचसीपी व यहां तैनात छह सिपाहियों को एसपी ने निलंबित कर दिया है। एसपी की इस कार्रवाई के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।

कन्नौज में सिकरंदपुर पुलिस चौकी के इंचार्ज उमेश चंद्र चौरसिया के साथ चौकी पर तैनात सिपाहियों को अवैध शराब का कारोबार करने वाले लोगों को शरण देने के मामले में निलंबित कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक हरीश चंद्र ने बताया कि चौकी प्रभारी सिकरंदरपुर उमेश चंद्र चौरसिया सहित पूरी चौकी के सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। तीन दिन पहले स्वॉट टीम प्रभारी व छिबरामऊ कोतवाली प्रभारी संतोष कुमार व्यास ने रात में पुलिस टीम के साथ छापा मार कर अखिलेश मिश्रा पुत्र रविन्द्र कुमार के घर से 11 प्लास्टिक के पीपे 50 लीटर के व 10 लीटर का वाटर कूलर सहित यूरिया खाद व अन्य शराब बनाने का सामान बरामद किया था। इस दौरान चौकी प्रभारी का चौकी क्षेत्र मे पूर्ण नियंत्रण न होने व संलिप्तता होने के कारण मामले को गंभीरता से लिया गया।

चौकी प्रभारी उमेश चंद्र चौरसिया, एचसीपी शिव नरेश गुप्ता, सिपाही मकसूद अहमद, बबलू कुमार, मुकेश कुमार, सुनील कुमार, बलविंदर सिंह व रवि यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ में जिले के सभी चौकी और थाना प्रभारियों को सख्त हिदायत दी गई। बताते चलें कि दो दिन पूर्व स्वाट टीम प्रभारी पप्पू सिंह ठेनुआ व छिबरामऊ कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार व्यास ने सटीक सूचना पर सिकंदरपुर में अखिलेश मिश्र के घर छापेमारी कर शराब बनाने के उपकरण व माल बरामद किया था। इस दौरान लोगों ने स्थानीय पुलिस कर्मियों पर मिलीभगत के आरोप भी लगाए थे। इस कार्रवाई से पुलिस महकमे में खलबली मची है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned