कहीं यह सत्ता का प्रभाव तो नहीं, पूर्व विधायक के बेटे पर दिखी पुलिस की दरियादिली

पुलिस एक बार सत्ता के दबाव में दिखी।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 10 Feb 2018, 02:24 PM IST

कन्नौज. पुलिस एक बार सत्ता के दबाव में दिखी। 7 फरवरी की देर रात पूर्व विधायक के बेटे द्वारा चाट दुकानदार से मारपीट व धमकी देने के मामले में पुलिस ने मामूली धाराओं में चालान कर दिया। साथ ही बंदूक को अपने कब्जे में लेकर पड़ताल में लगी है। वहीं, शहरी क्षेत्र के लोग दबी जुबान से सत्ता पक्ष के दबाव में पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज न करने हल्की धाराओं में एनसीआर दर्ज करने की चर्चा करते रहे।

कन्नौज की सदर कोतवाली क्षेत्र के काजीटोला निवासी दीपक जोशी ने पुलिस को शिकायती पत्र दिया। बताया वह बुधवार करीब नौ बजे दुकान पर बैठा था। उसी समय पूर्व विधायक बनवारी लाल दोहरे के पुत्र अजीत दोहरे शराब के नशे में आकर गाली-गलौज करने लगे। मना करने पर उसके मारपीट कर दी। रायफल के बट से पीटने पर वह गंभीर रूप से घायल हो गया। आसपास के लोगों के आ जाने पर धमकी दी। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने एनसीआर दर्ज कर आरोपी का चालान कर दिया। साथ ही रायफल को कब्जे में लेकर जांच में जुट गई। देर रात दोनों पक्षों में समझौते के प्रयास चलते रहे लेकिन बात नहीं बनी। इसके बाद दूसरे दिन पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने एनसीआर दर्ज कर आरोपी का चालान कर दिया।

यह था मामला

सदर कोतवाली के काजीटोला मोहल्ले में बीएसएनएल बिल्डिंग के पास एक चाट की दुकान है। देर रात करीब साढ़े नौ बजे यहां पर सदर कोतवाली क्षेत्र में रहने वाले एक पूर्व विधायक का बेटा पहुंचा। वह चाट खरीदने लगा। इसी दौरान किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विधायक पुत्र ने अपनी रायफल दुकानदार के सीने पर तान दी। इससे मौके पर खड़े लोगों में अफरातफरी का माहौल बन गया। कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाई तो सभी टूट पड़े। दुकानदार के समर्थन में आए लोगों ने विधायक के बेटे को पकड़कर रायफल छीन ली। इसके बाद यूपी-100 पर सूचना मिली तो पुलिस टीम उसे कोतवाली लेकर पहुंच गयी। यहां उसने पुलिसवालों से उलझते हुए घंटों हंगामा काटा। सीओ सदर लक्ष्मी कांत गौतम ने बताया कि विधायक के बेटे के रायफल तानने का मामला पता चला है। पीड़ित दुकानदार तहरीर देगा तो रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned