एक और हादसे का गवाह बना लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे, कार पलटने से सात घायल

प्रदेश की राजधानी से आगरा को जोडऩे वाले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर सड़क दुर्घटनाएं आम बात हो गई है।

By: shatrughan gupta

Published: 11 Dec 2017, 10:40 PM IST

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर एक बार फिर एक हादसे का गवाह बना है। एक्सप्रेस-वे पर एक कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई। इससे कार में सवार सात लोग घायल हो गए। चालक को गंभीर हालत में मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। प्रदेश की राजधानी से आगरा ? को जोडऩे वाले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर सड़क दुर्घटनाएं आम बात हो गई है। देखा जाए तो लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हादसों का सफर थम नहीं रहा है। एक सप्ताह में ही तीन हादसे इस बात की पुष्टि करने के लिए काफी है।

हम आपको बताते चले कि बिहार के जिला छपरा के ग्राम नगरा खायरा निवासी तीस वर्षीय विपिन पुत्र विजेंद्र अपनी स्कार्पियो कार से गांव से दिल्ली जा रहे थे। उनके साथ कार में 33 वर्षीय भाई विनय, 30 वर्षीय भाभी रिंकी व भतीजी काव्या के अलावा 15 वर्षीय गोलू पुत्र अख्तर व गोलू की 45 वर्षीय मां रेशमा भी कार में सवार थे। कार को चालक 40 वर्षीय रामशंकर चला रहा था। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर नगला झाबर के पास चालक को झपकी आ गई। इससे कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई।

इससे गाड़ी में सवार लोगों में चीख-पुकार मच गई। हादसे की सूचना पर यूपी 100 की टीम मौके पर पहुंच गई। सभी घायलों को बाहर निकाला और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। हालत गंभीर होने पर चालक रामशंकर को प्राथमिक उपचार के बाद मेडिकल कालेज तिर्वा रेफर कर दिया गया। विपिन ने बताया कि वह लोग दिल्ली के दुर्गा पार्क में किराए पर रहते हैं। सभी रेडीमेड कपड़ों का व्यापार करते हैं। गांव से वापस दिल्ली जा रहे थे। रास्ते में यह हादसा हो गया।

कुछ घंटे बाद एक और हादसा

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर तेज रफ्तार में लखनऊ से आगरा जा रही कार का टायर फटने के बाद आग लग गई। इससे कार डिवाइडर से टकराई और उसमें सवार तीन लोग जख्मी हो गए। एक की हालत गंभीर होने से उसे आगरा रेफर कर दिया गया। आगरा के कलेक्ट्रेट में तैनात कर्मचारी संजय कपूर दो साथियों के साथ लखनऊ गए थे, तीनों लखनऊ से वापस आगरा जा रहे थे। एक्सप्रेस-वे पर ठठिया के सत्तार गांव के सामने पहुंचते ही टायर फटने व आग लगने से कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। कार में आग लगने से खलबली मच गई। कुछ ही दूरी पर पेड़ों में पानी डाल रहे टैंकर ने मौके पर पहुंच आग बुझाई। यूपी 100 के पुलिसकर्मी ने मौके पर पहुंचकर घायलों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। यहां पर संजय कपूर को हालत गंभीर होने से आगरा रेफर कर दिया गया।

एक सप्ताह के अंदर यह भी हुए हादसे

गोंडा के भउआ कर्जलगंज निवासी जमाल अहमद लखनऊ में रहकर कार्य करते हैं। मुंबई के घनकोली निवासी उनकी मौसी अनीसा शेख पत्नी अब्दुल शेख आज मुंबई से फ्लाइट से लखनऊ आई थीं। लखनऊ एयरपोर्ट से उनके परिवार को लेकर जमाल अहमद क्वालिस से अजमेर शरीफ से जा रहे थे। गाड़ी में शबाना पुत्री अब्दुल शेख, फरजाना शेख पुत्री अब्दुल शेख, सायरा खातून पत्नी अब्दुल कायम शाह, अब्दुल सत्तार पुत्र मोहम्मद इब्राहिम व बच्चे मोहित सिल्टी पुत्र साजिद व अली माहदेवी पुत्र अब्दुल कायम शाह भी थे। इसके अलावा मानपुर खुर्द महाराष्ट्र नगर मुंबई निवासी दिलशाद पत्नी नासिर शेख भी थीं। कन्नौज के सौरिख थानांतर्गत एनसीसी प्लांट के पास आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर टायर फटने से कार डिवाइडर से टकरा कर पलट गई। जिसमे सात लोग सवार थे और सभी को गंभीर चोटें आई थी।

इसी तरह एक दिन पहले फरीदाबाद के रोशन नगर निवासी चौतींस वर्षीय संजय यादव पुत्र नाहर यादव लखनऊ से आगरा जा रहे थे। उनके साथ स्कार्पियो गाड़ी में सैतांलिस वर्षीय अखिलेश शर्मा पुत्र बिलखत सहित एक अन्य व्यक्ति भी थे। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ग्राम सकरहनी के पास तेज रफ्तार कर अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। गाड़ी की गति अधिक होने की वजह से करीब 30 मीटर तक डिवाइडर पर लगी जाली को तोड़ दिया। कार सड़क के दूसरी तरफ पहुंच गई। इसमें संजय व अखिलेश गंभीर रूप से घायल हो गए थे ।

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned