...जब अपनी मौत का राज खोलने नदी से बाहर निकली लाश, तो हिल गई पुलिस

मौत के चार दिन बाद नदी से लाश निकली तो इलाके में मच गया हड़कंप, कन्नौज के खानपुर कस्बे का मामला

By: Hariom Dwivedi

Published: 12 Nov 2017, 12:52 PM IST

कन्नौज. छह नवंबर को विवाहिता की हत्या हुई थी। मृतका के भाई ने ससुराल पक्ष पर कत्ल का लाश को नदी में फेंकने का आरोप लगाया था। पुलिस ने गोताखोरों की टीम नदी में उतारी, वो दिन भर नदी में डुबकियां लगाते रहे, लेकिन लाश नहीं मिली, जिससे यह केस पुलिस के लिए सिरदर्द साबित होता जा रहा था। इलाके में चर्चाएं भी शुरू हो गई थीं कि महिला की मौत का राज उसके साथ ही दफन हो गया। लेकिन अचानक घटना के चौथे दिन लाश खुद अपनी मौत का राज खोलने नदी से बाहर आ गई।

नदी में तैरती लाश की सूचना मिली तो आनन-फानन में पुलिस मौके पर पहुंची। इलाके के लोगों का भी मजमा लग गया। शिनाख्त में पता चला कि यह लाश उसी रामदेवी की है, जिसके भाई ने दहेज के लालच में ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया था। लाश का यूं नदी से चार दिन बाहर आना लोगों की चर्चा का केंद्र बन गया। लोगों में चर्चा शुरू हो गई कि अब इस महिला की मौत का राज सामने आ जाएगा।

जहर देकर हत्या करने का आरोप
खानपुर कस्बे में एक विवाहिता को इसलिए जहर देकर मार दिया गया, क्योंकि मृतका के परिजन ससुराल पक्ष को दहेज में बकरी, बाइक और 20 हजार रुपए नहीं दे पाए थे। मृतका के भाई ने ससुराल पक्ष पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया था। आरोप है कि छह नवंबर की रात पति समेत अन्य ने जहर खिलाकर उसे मार डाला। इसके बाद गुपचुप ढंग से शव ईशन नदी में फेंक दिया। पुलिस ने भाई हरिश्चंद्र की तहरीर पर पति दिलीप, ससुर विजय पाल, सास गीता देवी व देवर नीलू के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर शव की तलाश में गोताखोर उतारे थे, लेकिन शव नहीं मिला।

मिट्टी बहने पर ऊपर आया शव
मिली जानकारी के मुबाबिक, विवाहिता के शव को दो बोरों में मिट्टी भरकर बंद करने के बाद नदी में फेंका गया था। पानी के बहाव में मिट्टी घुलने के बाद शव ऊपर आ गया। इससे ग्रामीणों की नजर पड़ी और पुलिस आसानी से उस तक पहुंच सकी। गोताखोर कई दिन से लगे थे, लेकिन सफल नहीं हुए थे।

भाई ने की बहन के शव की शिनाख्त
सुबह ग्रामीण ईशन नदी के किनारे नरदाह घाट की ओर शौच गए थे। इस बीच एक बोरे में शव दिखाई पड़ने पर लोगों की भीड़ लग गई। बेहटा चौकी इंचार्ज विनोद कुमार ने बोरे को बाहर निकलवाया। इसमें महिला का शव होने पर सूचना गुरसहायगंज निवासी हरिश्चंद्र को दी गई। उसने मौके पर पहुंच बहन रामा देवी के तौर पर शिनाख्त की। उसने बताया कि बहनोई दिलीप कुमार ने बहन की हत्या कर शव को बोरे में बंद कर नदी में फेंक दिया था। पति, ससुर, सास व देवर के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज किया है। इसमें सास को जेल भी भेजा जा चुका है।

देखें वीडियो-

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned