निकारीपुरवा हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया खुलासा, चौंकाने वाली बजह आई सामने

Akansha Singh

Updated: 24 Jul 2019, 09:00:52 AM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

कन्नौज. थाना इन्दरगढ़ थाना (Indargarh Police Station) क्षेत्र के ग्राम निकारीपुर्वा में विगत 11 जुलाई को हुई अधेड़ की हत्या के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। सर्विलांस और स्थानीय पुलिस टीम ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। दोनों आरोपियों के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है।

11 जुलाई को मिला था शव
एसपी अमरेन्द्र प्रसाद सिंह ने प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों से मुखातिब होते हुए बताया कि विगत 10 जुलाई को थाना इन्दरगढ़ क्षेत्र के ग्राम निकारीपुर्वा में 45 वर्षीय ओमकार यादव की हत्या कर दी गई थी। 11 जुलाई को उसका शव गांव के बाहर खेत में पड़ा मिला था। पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल पर बारीकी से जांच पड़ताल की गई थी। मृतक के परिजनों ने हत्या किए जाने का आरोप जताते हुए अज्ञात के खिलाफ इन्दरगढ़ थाने में मुकदमा पंजीकृत कराया था। घटना को गंभीरता से लेते हुए सर्विलांस टीम और स्थानीय पुलिस टीम को जल्द घटना का खुलासा किए जाने के निर्देश दिए गए थे। दोनो टीमें हत्या की कड़िया जुटाने के लिए जुट गईं और विवेचना के दौरान सत्यवीर उर्फ नन्हें पुत्र रामसेवक व राजकपूर उर्फ बडन्का पुत्र कप्तान सिंह निवासी निकारीपुर्वा के नाम प्रकाश में आए।


ओमकार की हत्या की बात कबूली
पुलिस टीम ने दोनो आरोपियों को दबोचने के लिए मुखबिरों का जाल बिछा दिया। मुखबिर द्वारा पुलिस टीम को सूचना मिली कि उक्त दोनो आरोपी उमर्दा पुल तिर्वा बेला रोड पर मौजूद हैं और कहीं जाने की फिराक में वाहन का इन्तजार कर रहे हैं। पुलिस टीम दलबल के साथ मौके पर पहुंच गई और घेराबन्दी करते हुए दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया किअवैध संबधो के चलते उक्त आरोपियों ने गमछे से गला दबाकर ओमकार की हत्या कर दी थी। एसपी ने हत्यारोपियों को पकड़ने वालीे पुलिस टीम की सराहना की है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned