अखिलेश के इन सिपाहियों ने कर दिया कुछ ऐसा, कि खड़े हो गए कई सवाल

अखिलेश के इन सिपाहियों ने ऐसा क्या कर दिया कि सवाल खड़े होने लगे हैं।

By: Mahendra Pratap

Published: 24 May 2018, 03:36 PM IST

कन्नौज. जिला मुख्यालय में अधिकारीयों के नाक के नीचे और पुलिस प्रशासन के सामने धारा 144 की जमकर धज्जियाँ उड़ाई गयी मगर इसकी रोकथाम के लिए किसी ने कोई कदम उठाने की जहमत नहीं समझी। नगर में सपाइयों के दो जगह प्रदर्शन ने अधिकारियों की नियमावली पर सवाल खड़े कर दिए। सपाइयों द्वारा जीटी रोड पर रिक्शा चलाने व तिर्वा रोड पर बाइकें फूंकने से कुछ देर के लिए जाम लग गया। जबकि जिले में 15 जुलाई तक धारा 144 लागू है इसके वाबजूद भी शहर की मुख्य सड़को पर जुलुस के साथ प्रदर्शन किया गया।

लोगों को हुई परेशानी

कन्नौज मुख्यालय पर बढ़ते पेट्रोल व डीजल के दाम को लेकर सपाइयों ने प्रदर्शन किया। सबसे पहले समाजवादी युवजन सभा ने बस स्टैंड से लोहिया तिराहे तक रिक्शा चलाकर विरोध जताया। इससे जीटी रोड पर जाम के हालात बन गए। दोनों तरफ रोड जाम होने से वाहन सवार गर्मी से बेहाल हो गए। वहीं, पुलिस को प्रदर्शन की जानकारी तक नहीं रही। न ही कोई वहां दिखा। उधर, तहसील में बाइकें फूंकने पहुंचने पर रोकने से तिर्वा रोड स्थित पार्टी कार्यालय तक सपाइयों ने पैदल मार्च के साथ बाइक रैली निकाली । इससे रोड के पीछे वाहन रेंगते रहे।

बाइकों के पंजीयन की भी नहीं जानकारी

पार्टी कार्यालय के बाहर बिना अनुमति बाइकें जलाई गई। इससे आसपास निकल रहे वाहन सवारों को दिक्कत हुई। हालांकि पुलिस को इसकी भी भनक नहीं लगी। जबकि बस स्टैंड के पास तहसील परिसर में पुलिस चौकी भी है और बस स्टैंड पर ही पुलिस की एक टुकड़ी ड्यूटी उपर तैनात रहती है। बाइकों के जलाई गई बाइकों के पंजीयन की भी जानकारी एआरटीओ कार्यालय को नहीं है। यात्री कर अधिकारी आरबी दोहरे ने कहा कि उनको इस मामले में कोई जानकारी नहीं है।

जिले में धारा 144 लागू

वहीं, कोतवाली प्रभारी एके सिंह ने बताया कि अभी प्रदर्शन का कुछ पता नहीं है। जानकारी करेंगे। लोगों को दिक्कत हुई है तो कार्रवाई होगी। वहीँ इस मामले में डीएम का कहना है कि जिले में धारा 144 लागू है। मामला संज्ञान में लिया गया है। पुलिस अधिकारियों से इसकी जांच कराई जाएगी। दोषी मिलने पर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा सख्त कार्रवाई करेंगे।

कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

सपा के दो गुटों द्वारा अलग अलग किये गए प्रदर्शन से पुलिस की कानून व्यवस्था पर सवाल उठे हैं। हम आपको बताते चले कि प्रदर्शन करियों ने जिन स्थानों से रैली निकली वहां चौबीस घंटे पुलिस मुस्दैत रहती है मगर उसके वाबजूद भी पुलिस के सामने ही धारा 144 को ढेंगा दिखाते हुए प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन कर कानून व्यवस्था का मजाक बना दिया।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned