कोतवाली का निरीक्षण करने पहुंचे थे एसपी और डीएम, महिला ने पैर छुकर मांगा न्याय, देखें वीडियो

Ruchi Sharma

Publish: Aug, 30 2019 04:34:42 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

कन्नौज. सदर कोतवाली पुलिस की मनमानी से तंग महिला ने न्याय पाने के लिए कुछ ऐसी हरकत कर दी, जिससे पुलिस कप्तान की हक्कीबक्की गुम हो गई। मीडिया की मौजूदगी में महिला द्वारा इस प्रकार सलूक करने की वजह से एसपी हकपका गए। इस बीच एसपी और साथ में मौजूद डीएम ने महिला को ऐसा न करने की नसीहत दी। जिसके बाद महिला ने अपनी गलती मानते हुए न्याय दिलाये जाने की बात को दोहराया। जिसपर एसपी ने जल्द कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया।

जब पैरों में गिरी महिला

बताते चले कि कप्तान अमरेंद्र प्रसाद और डीएम रवींद्र कुमार सदर कोतवाली का निरीक्षण करने पहुंचे थे। अफसरों के आने की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने आनन-फानन में डांट-फटकार लगाकर ऐसे लोगों को भगा दिया जो न्याय की आस में वहां आए हुए थे। इनमें से एक थी फर्रुखाबाद निवासी मीरा देवी। महिला का आरोप है कि पुलिस उनकी बहू को हिरासत में लेकर दो दिन से कोतवाली में बैठा रखा है। तीसरे दिन जैसे ही अफसरों की गाड़ी आई तो पुलिस वालों ने उसे बाहर भगाने का प्रयास किया। इस बीच डीएम और एसपी को सामने देख महिला ने एसपी से गुहार लगाते हुए पैर छू लिए। मीडिया की मौजूदगी में महिला द्वारा अचानक पैर छूने की वजह से एसपी हकपका गए। इस बीच एसपी अमरेंद्र प्रसाद और साथ में मौजूद डीएम रवीन्द्र कुमार ने महिला को पैर न छूने की नसीहत दी। जिसके बाद महिला ने अपनी गलती मानते हुए न्याय मिलने की बात दोहराया।

मामला था यह

महिला की माने तो उसके बेटे ने प्रेम विवाह किया है जिसकी वजह से बेटे के ससुरालियों ने हमारे खिलाफ मुकदमा करा दिया। मजिस्ट्रेट के सामने बयान के लिए बहू को लेकर आये हैं और दो दिन से बिठाये हुए हैं बयान नहीं करा रहे हैं जिसकी गुहार हमने लगाईं थी। हालांकि महिला पैर छूने वाली बात परकह रही है कि हमे पैर नहीं छूने चाहिए थे हाथ जोड़ना चाहिए था बुढ़ापे की वजह से गलती हो गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned