आंदोलन के लिए मजबूर हुए छात्र छात्रा, असिस्टेंट कमिश्नर को जाना पड़ा उनके पास 

Alok Pandey

Publish: Sep, 16 2017 04:22:30 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
आंदोलन के लिए मजबूर हुए छात्र छात्रा, असिस्टेंट कमिश्नर को जाना पड़ा उनके पास 

जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र और छात्रा स्कूल में धरने पर बैठ गए।

कन्नौज. चार दिन पहले कन्नौज के जवाहर नवोदय विद्यालय की छात्रा के सुसाइड करने के बाद दूसरे छात्र छात्रा भी विद्यालय प्रशासन के खिलाफ खड़े हो गए हैं। प्रिंसिपल और वार्डन के विरोध में विद्यालय के स्टूडेंट एकजुट हो गये और अर्धवार्षिक परीक्षा का बहिष्कार कर कॉलेज गेट पर ही धरने पर बैठ गये। सूचना मिलने पर नवोदय विद्यालय समिति के असिस्टेंट कमिश्नर विद्यालय पहुंचे। और उन्होंने छात्र छात्राओं से बात की। असिस्टेंट कमिश्नर का कहना है कि शिकायतों की जांच के बाद उचित कार्यवाही की जाएगी। 

कन्नौज के जलालाबाद ब्लॉक के अनौगी गांव में स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र और छात्राएं स्कूल में धरने पर बैठ गए।  यह स्टूडेंट कालेज के प्रिन्सिपल और वार्डन सहित स्कूल के कुछ टीचरों के रवैये से आक्रोशित हैं। इनका कहना है कि प्रिंसिपल की ज्याजतियों से आजिज आकर कुछ दिन पहले छात्रा सिमरन आत्महत्या कर चुकी है। कई और छात्र छात्राएं प्रिंसिपल ओर वार्डन के रवैये से डिप्रेशन में हैं। आंदोलित छात्र छात्राओं का कहना है कि अगर स्कूल के कुछ लोग नहीं हटाए गए तो आत्महत्या जैसे मामले और हो सकते हैं।

छात्र छात्राओं के धरने पर बैठने के कारण के बारे में जब स्कूल की प्रिंसिपल सुमनलता यादव से बात करना चाही तो उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया और कैमरे के सामने ही बड़बड़ाने लगी। अपनी समस्या नवोदय विद्यालय समिति के कमिश्नर लेविल के अधिकारी को बताने की जिद पर अड़े स्टूडेंट ने खाना पीना छोड़ दिया और किसी की भी बात सुनने से इनकार कर दिया। 

जब बात नही बनी तो सूचना मिलने पर नवोदय विद्यालय समिति के असिस्टेंट कमिश्नर विद्यालय पहुंचे। उन्होंने बन्द कमरे में आंदोलित छात्र छात्राओं से उनकी समस्या जानी और पत्रकारों से बातचीत में बताया की स्टूडेंट के धरने की खबर पर आया हूँ। उनकी शिकायतों की जांच के बाद उचित कार्यवाही की जाएगी।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned