कानपुर के कुरसौली गांव में विचित्र बुखार से 11 की मौत, कई बीमार

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में डेंगू और वायरल बुखार का प्रकोप, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, कम नहीं हो रही मरीजों की संख्या

By: Hariom Dwivedi

Published: 20 Sep 2021, 05:12 PM IST

कानपुर. सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। कोई भी दवा और दुआ काम नहीं नहीं आ रही है। ब्रज मंडल में हर दिन मासूम काल के काल के गाल में समा रहे हैं। अब तक यहां सवा सौ से अधिक की जान जा चुकी है। प्रदेश के कई और जिलों में यह बीमारी बच्चों की जान पर आफत बनकर आई है। कानपुर जिले के दर्जन भर गांवों में डेंगू और वायरल बुखार कहर बरपा रहा है। कानपुर नगर के कल्यानपुर थाना क्षेत्र के कुरसौली गांव में विचित्र बुखार से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि बड़ी संख्या में लोग बीमार हैं।

स्वास्थ विभाग द्वारा कुरसौली के अलावा महदेवा, सचौली ऐमा, त्रिलोकपुर, संचितपुर, बीबीपुर, कंठीपुर और अब्दुल निवादा गांव में लोगों को दवाइयां वितरित कर रहे हैं। छिड़काव किया जा रहा है। हेल्थ कैंप लगाये गये हैं, लेकिन डेंगू और बुखार का सिलसिला थम नहीं रहा है। हर दिनों डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। कुरसौली के ग्रामीण इतने खौफजदा हैं कि हैलट और उर्सला जैसे सरकारी अस्पताल में इलाज कराने से डर रहे हैं और वह बुखार से पीड़ितों का इलाज निजी अस्पतालों व नर्सिंग होम में करा रहे हैं। ग्रामीणों का मानना है कि सरकारी अस्पतालों में उन्हें दौड़ाया जा रहा है।

गांव से पलायन कर रहे लोग
विचित्र बुखार की चपेट में आने गांव के करीब एक दर्जन लोगों की मौत के बाद कुसरौली गांव के लोग दहशत में हैं। कई ग्रामीणों ने गांव छोड़ दिया है। वह रिश्तेदारों व मित्रों के यहां रहने रहने चले गये हैं। कुछ शहर में किराये का मकान लेकर रहने लगे हैं।

यह भी पढ़ें : राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में शुरू होगा कॉकलियर इम्प्लांटेशन, हर मंगलवार को ओपीडी

क्या है विचित्र बुखार?
कई मरीजों में तेज बुखार आता है। लक्षण डेंगू और वायरल फीवर से मिलते हैं, लेकिन उनमें इन दोनों बीमारियों की पुष्टि नहीं होती है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इसे विचित्र बुखार कह रहे हैं।

जिले में डेंगू के कुल 130 मरीज
सीएमओ कार्यालय कानपुर से रविवार को जारी रिपोर्ट में छह और मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है, जिसके बाद जिले में कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 130 हो गई है। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों के 103 और शहरी क्षेत्र में 27 लोग ग्रसित हैं।

यह भी पढ़ें : KGMU को मिला पहला हेमेटोलॉजी क्लीनिक, हर शनिवार को देखे जाएंगे Blood Disorders पेशेंट

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned