बिना हेलमेट बाइक चलानें वालों की फोटो भेजने पर मिलेगा ‘रूपइया’

Vinod Nigam

Updated: 08 Jun 2019, 08:30:01 AM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। पिछले चार साल के दौरान 4,972 सड़क हादसे में करीब 2,265 लोगों ने अपनी जान गवां दी तो वहीं 3,836 लोग घायल हो गए। अब इन्हें रोकने के लिए परिवहन विभाग आगे आते हुए एक खास तरह का मोबाइल एप लान्च करने जा रहा है। इसके जरिए जो भी दा पहिया बाइक चालक बिना हेलमेट के सड़क पर दिखेगा उसकी आमलोग फोटो खींचकर सीधे मोबाइल एप पर अपलोड कर सकेंगे। इसके बदले विभाग उनके खाते में पांच रूपए ट्रांसफर करेगा। साथ ही वाहन मालिक के घर पर यातायात पुलिस चालान भेज कर जुर्माना वसूलेगी।

आमलोग फोटो कर सकेंगे अपलोड
परिवहन विभाग जल्द ही हादसों पर लगाम के अलावा बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन के साथ ही बिना बेल्ट के कार चलाने वालों के खिलाफ एक मोबाइल एप् लांच करने जा रहा है। जिसके जरिए आमलोग बिना हेलमेट लगाए बाइक चालकों की फोटो खींचकर माबाइल एप पर अपलोड कर सकता है। फोटो अपलोड होते ही मोबाइल धारक के खाते में पांच रुपये आ जाएंगे। बिना हेलमेट बाइक चलाने वाले सवार के घर चालान भेज दिया जाएगा। इसके अलावा कार चालक यदि बिला बेल्ट के उसे डाइव करते हुए भी दिखे तो राहगीर उसकी फोटो खींचकर मोबइल एप में डाउनलोड कर सकते हैं।

50 लाख आएगी लागत
एआरटीओ प्रशासन आदित्य त्रिपाठी के मुताबिक परिवहन विभाग ने एप लांच करने और प्रोत्साहन राशि के लिए 50 लाख रुपये स्वीकृत किए हैं। मोबाइल से बिना हेलमेट बाइक सवार की फोटो के साथ लाइव लोकेशन डालनी पड़ेगी। फोटो अपलोड करने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी। एआरटीओ प्रशासन का मानना है इसके डर से लोग बिना हेलमेट के बाइक चलाने से डरेंगे और हादसों में कमी आएगी।

नियमों का पढ़ाया जाएगा पाठ
एआरटीओ प्रशासन आदित्य त्रिपाठी के मुताबिक वाहन चालकों को ट्रैफिक नियमों का पाठ पढ़ाने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट्स को बढ़ावा दिया जाएगा। उसके लिए सोशल मीडिया कैंपेन भी आयोजित किए जाएंगे। इसके लिए एक करोड़ रुपये बजट स्वीकृत हुआ है। एआरटीओ ने यह भी बताया कि अब बिना हेलमेट के युवतियां व महिलाएं भी दो पहिया वाहन नहीं चला पाएंगी। उन्हें भी हेलमेट लगाकर चलना होगा। यदि वो ऐसा नहीं करती तो यातायात पुलिस और परिवहन विभाग जुर्माना लगाएगा।

अब कटेंगे चालान
एआरटीओ प्रशासन आदित्य कुमार त्रिपाठी ने बताया प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं होने पर चालान काटा जाएगा। बताया, कुछ ऐसे सेंटर थे जो प्रदुषण चेक किये ही प्रमाण जारी कर रहे थे। उन सभी सेंटरों के लाइसेंस को निरस्त कर दिया गया है। आरटीओ विभाग की तरफ से 19 प्रदुषण सेंटर चलाये जा रहे हैं, जिन्हे ऑनलाइन करके अपडेट किया जा रहा है। एआरटीओ प्रशासन आदित्य ने कहा कि सड़क पर यदि जर्जर वाहन पाए गए तो इसकी जिम्मेदारी सीधे आरटीओ व यातायात पुलिस की होगी।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned